कुछ घंटों में ही नीतीश फिर बन गए सीएम

0
303

न्यूज़ चक्र @ पटना/ सेन्ट्रल डेस्क

नीतीश कुमार व लालू यादव की 20 दिन से जारी अपनी-अपनी जिद के बीच कुछ धमाकेदार होने की आशंका बुधवार शाम सही साबित हो गई। बेहद नाटकीय अंदाज में नीतीश कुमार ने 20 माह पुरानी सरकार के सीएम  पद से इस्तीफा दिया तो पूरे फिल्मी अंदाज में बीजेपी ने उन्हें वापस समर्थन देकर सीएम बनाने की घोषणा कर डाली। गुरुवार सुबह एनडीए व जेडीयू गठबंधन की बिहार में फिर सरकार बन गई। नीतीश ने छठी बार सीएम पद की शपथ ली तो भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी डिप्टी सीएम बन गए।

इससे पूर्व बुधवार देर रात हुई बीजेपी-जेडीयू की साझा बैठक में नीतीश कुमार को विधायक दल का नेता चुना गया। नीतीश कुमार और सुशील मोदी गुरुवार सुबह राजभवन पहुंचे। यहां दस बजे राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी ने नीतीश कुमार को सीएम पद की शपथ दिलाई। वहीं सुशील मोदी ने उप मुख्यमंत्री पद की शपथ ली।

ऐसे चला घटनाक्रम

बुधवार शाम नीतीश कुमार ने आरजेडी और कांग्रेस के साथ 20 महीने पुराने महागठबंधन से खुद को अलग करते हुए राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी को अपना इस्तीफा सौंप दिया। उनके इस्तीफे की घोषणा के कुछ देर बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ट्वीट कर नीतीश को बधाई दी। उन्होंने लिखा, भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में जुड़ने के लिए नीतीश कुमार जी को बहुत-बहुत बधाई। सवा सौ करोड़ नागरिक ईमानदारी का स्वागत और समर्थन कर रहे हैं। विशेष रूप से राजनीतिक मतभेदों से ऊपर उठकर भ्रष्टाचार के खिलाफ एक होकर लड़ना, आज देश और समय की मांग है।

नीतीश के इस्तीफे की घोषणा के बाद भारतीय जनता पार्टी ने उन्हें बिना शर्त समर्थन देने की घोषणा कर दी। 243 सदस्यीय बिहार विधानसभा में जेडीयू और भाजपा को मिलाकर 129 विधायक हो गए, ये आवश्यक बहुमत 124 से 5 अधिक है।