महिला डॉक्टर को सजा मिली तो हड़ताल पर चले गए सभी डॉक्टर

0
1688

न्यूज़ चक्र @ अलवर

महिला चिकित्सालय के बाहर महिला का प्रसव हो जाने के मामले में एपीओ की गई डॉक्टर कंचन बत्रा के समर्थन में बुधवार को अलवर के सभी सरकारी डॉक्टरों ने काम का बहिष्कार कर दिया। डॉक्टरों की इस दो घंटे की हड़ताल के दौरान मरीजों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा।
राजीव गांधी सामान्य चिकित्सलाय, महिला चिकित्सलाय व गीतानंद शिशु चिकित्सलाय के डॉक्टर भी इस हड़ताल में शामिल हुुुुए। इस दौरान कुुत्ते के काट जाने से इलाज के लिए अस्पताल लाए गए एक सात वर्षीय बअब्बास को भी राहत नहीं मिली। ब्बास के पिता वसीम अकरम उसे अस्पताल में लेकर घूमता नजर आया। इसी तरह एक बुजुर्ग को ट्रॉमा वार्ड में इलाज नहीं मिला। इसी प्रकार अन्य बेहाल मरीजों केे परिजन भी डॉक्टरों को कोसते रहे।

हड़ताली डॉक्टरों का कहना था कि महिला अस्पताल में ड्यूटी डॉक्टर कंचन बत्रा ने महिला का ठीक तरीके से इलाज किया था। उसके बावजूद उन्हें पीएमओ से रिपोर्ट लिए बिना और जांच किए बिना एपीओ कर दिया गया। जब तक उन्हें बहाल नहीं कर दिया जाएगा, उनकी हड़ताल जारी रहेगी। फ़िलहाल दो घंटे की हड़ताल की जा रही है, बाद में अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू की जाएगी।