मस्जिद के बाहर भीड़ ने डीएसपी को पीट-पीट कर मार डाला

0
1437

न्यूज़ चक्र @ श्रीनगर/ सेन्ट्रल डेस्क
जम्मू-कश्मीर में गुरुवार देर रात एक मस्जिद के बाहर सादे कपड़ों में ड्यूटी कर रहे डीएसपी को भीड़ ने पीट-पीट कर मार डाला। भीड़ ने पहले पुलिस अधिकारी को निर्वस्त्र किया, फिर उन पर बुरी तरह पत्थर बरसाए। इससे उनकी मौत हो गई।

भीड़ कथित तौर पर डीएसपी के द्वारा गोलियां चलाने से भड़क गई थी। घटना के बाद से क्षेत्र में भारी तनाव है। भारी संख्या में सुरक्षाबलों तैनात है। इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि तीसरे आरोपई की भी पहचान कर ली गई है। डीजीपी ने कहा है कि दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। सूत्रों का कहना है कि मस्जिद के अंदर अलगाववादी नेता मीर वाइज अपने हजारों समर्थकों के बीच तकरीर कर रहा था। उसी के भड़काने पर और साजिश के तहत उन्मादी भीड़ ने डीएसपी अयूब पंडित की हत्या की। मीर वाइज पाकिस्तान का कट्टर समर्थक है।

यह है मामला

कश्मीर के नौहट्टा इलाके में स्थित जामिया मस्जिद के बाहर गुरुवार देर रात डीएसपी मोहम्मद अयूब पंडित अपनी ड्यूटी कर रहे थे। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, रात करीब साढ़े बारह बजे कुछ लोगों ने जामिया मस्जिद के नजदीक अयूब को गुजरते देखा था। आरोप है कि वह मस्जिद से बाहर आ रहे लोगों की तस्वीरें ले रहे थे। वहीं कुछ का यह भी कहना है कि वे पहले मस्जिद के अंदर थे, बाद में बाहर आ गए थे।  वे मस्जिद में आने-जाने वालों के फोटो ले रहे थे। इस पर लोगों ने पहले उनसे उनकी पहचान पूछी। साथ ही वे उनके सीआरपीएफ, पुलिस या सेना का अफसर होने की बात कहते हुए आक्रोशित होने लगे । इसी के साथ लोगों ने अयूब पंडित को पकड़ने की कोशिश की । इस पर उन्होंने अपनी पिस्तौल निकाल गोलियां चलानी शुरू कर दीं। बताया जा रहा है कि इससे तीन लोग घायल हो गए। इसके बाद गुस्साई भीड़ ने उनकी पत्थर मार-मारकर हत्या करने से पहले उन्हें निर्वस्त्र कर दिया था।

मीरवाइज के लोगों पर आरोप
सीएम महबूबा मुफ्ती ने घटना की निंदा की। उन्होंने कहा कि अगर पुलिस का सब्र जवाब देगा तो फिर शायद पुराना वक्त वापस न आ जाए, जब रोड पर जिप्सी देखते ही लोगों को भागना पड़ता था। वहीं, राज्य के डीजीपी एसपी वेद ने कहा, ‘लोगों को समझना चाहिए कि अच्छा क्या है और बुरा क्या। जो उनकी हिफाजत के लिए वहां ड्यूटी कर रहा था, उसे ही पीटकर मार डाला।’ डीजीपी ने कहा कि मीरवाइज के लोग इस घटना में शामिल हैं। वारदात के वक्त डीएसपी के साथ मौजूद अन्य पुलिसवालों के मौके से भागने की रिपोर्ट पर डीजीपी ने कहा कि मामले की जांच चल रही है।  

 इस वारदात पर किसने क्या कहा?
पुलिस ने एक स्टेटमेंट जारी कर कहा- “एक और पुलिस अधिकारी ने ड्यूटी निभाते हुए जान दी। डीएसपी मोहम्मद अयूब पंडित अपनी ड्यूटी निभा रहे थे। तब भीड़ ने पीटकर मार डाला।”
– सीएम महबूबा मुफ्ती ने कहा- “जम्मू- कश्मीर की जो पुलिस है, ये पूरे मुल्क में सबसे बेहतर है। ये बहुत ही ज्यादा बहादुर है और बहुत ही ज्यादा हिम्मतवाले हैं। जम्मू-कश्मीर में अपने लोगों के साथ डील करते वक्त वे संयम रख रहे हैं, जिस दिन इनके सब्र का पैमाना भर जाएगा। मैं समझती हूं कि उस दिन बहुत मुश्किल होगी।”
– उधर, डीजीपी एसपी वैद्य ने कहा कि लोगों को समझना चाहिए अच्छा क्या है और बुरा क्या है, जो उनकी हिफाजत के लिए वहां डयूटी कर रहा था उसे ही पीट-पीटकर मार दिया गया।
 घटना के बाद इलाके में तनाव 
 रमजान में जुमे की आखिरी नमाज को देखते हुए सिक्युरिटी के सख्त इंतजाम थे। इस वक्त पूरे कश्मीर में लोग शब-ए-कद्र मना रहे हैं। इस दौरान रात भर जागते हैं और घाटी की मस्जिदों और दरगाहों के अंदर इबादत करते हैं। इस घटना के बाद से इलाके में भारी तनाव हैै। पुलिस हालात को सामान्य करने में जुटी हैै।