वृद्धा का गला रेत लूटे थे गहने, एक को मिली सजा, दूसरा ट्रायल में

0
385

न्यूज चक्र @ बून्दी
तालेड़ा थाना क्षेत्र के अंथड़ा गांव निवासी 92 वर्षीय वृद्धा की हत्या कर उसके गहने लूट लेने के दो आरोपियों में से एक को एडीजे प्रथम बून्दी मुदिता भार्गव ने मंगलवार को आजीवन कारावास की सजा सुनाई। वहीं दूसरे आरोपी के खिलाफ अदालत में ट्रायल विचाराधीन है।
लोक अभियोजक भूपेन्द्र सहाय सक्सेना ने बताया कि 27 मई 2014 की रात राधेश्याम धाकड़ ने तालेड़ा थाने में आकर रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इसमें कहा गया था कि 26 मई की रात वह दूसरे गांव गया हुआ था। उसका भाई भी रामलीला देखने गया था। वे रात को घर आकर सो गए। सुबह उठ कर देखा तो उसकी मां मोत्या बाई का गला रेत कर हत्या की हुई थी। आसपास खून फैला हुआ था। वहीं रात को घर पर सो रहे दो मजदूर झालावाड़ जिले के घाटोली थाना क्षेत्र के बदलोई गांव निवासी कालूलाल पुत्र वीरम भील व मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले के भोजपुर थाना क्षेत्र के घाटाखेड़ा गांव निवासी रघुनाथ पुत्र खबर सिंह भील गायब थे। पुलिस ने मामले की तफ्तीश कर अदालत में इन दोनों मजदूरों के खिलाफ चालान पेश किया। पुलिस ने कालूलाल को तो जल्दी ही गिरफ्तार कर लिया था, मगर रघुनाथ काफी समय बाद पकड़ा जा सका था। इसलिए रघुनाथ के खिलाफ तो अभी अदालत में ट्रायल विचाराधीन है। वहीं एडीजे प्रथम मुदिता भार्गव ने कालूलाल के खिलाफ हत्या व लूट का दोष सिद्ध मानते हुए उसे आजीवन कारावास की सजा सुनाई ।