दादाबाड़ी डिस्पेन्सरी के मरीजों को भी नहीं रहेगा पर्चा और जांच रिपोर्ट खोने का डर

0
402

अरविंद @ कोटा

शहर की दादाबाड़ी सरकारी डिस्पेंसरी में इलाज करवाने वाले मरीजों को भी अब डॉक्टर का पर्चा या जांच रिपोर्ट गुम जाने का डर नहीं रहेगा।  ऐसा यहां 10 जून (शनिवार) से शुरू होने जा रही मेडकॉर्ड्स डिजिटल हेल्थ केअर सुविधा के कारण होगा। सांसद ओम बिरला इस सुविधा का उद्घाटन करेंगे।  विधायक संदीप शर्मा कार्यक्रम की अध्यक्षता करेंगे।

डिस्पेंसरी प्रभारी डॉ.राजेंद्र शर्मा ने बताया कि यहां  प्रतिमाह सात हजार से अधिक रोगी अपना इलाज करवाने आते हैं। अब इन्हें इस सुविधा के चलते डॉक्टर्स के पर्चे व जांच रिपोर्ट को सम्भाल कर रखने की परेशानी से छुटकारा मिल जाएगा। उनका यह रिकॉर्ड डिस्पेंसरी में लगी मेडकॉर्ड्स डिवाइस में फीड रहेगा। इसी के साथ मरीज का नाम रजिस्टर्ड होने के बाद मोबाइल पर उसे सारा हेल्थ रिकॉर्ड निःशुल्क मिलता रहेगा। एक बार डॉक्टर को दिखाने के बाद डाटा आजीवन सुरक्षित रहने से रोगी अपने मोबाइल से कहीं भी किसी भी विशेषज्ञ डॉक्टर से परामर्श ले सकेगा। डॉक्टर के प्रेस्क्रिप्शन व जांच रिकॉर्ड सुरक्षित रखने वाली यह डिजिटल  तकनीक दुनिया के टॉप-10 स्टार्टअप में शामिल है।

एक माह पूर्व कोटा से हुई शुरुआत
इससे पूूर्व 9 मई को शहर की भीमगंजमंडी सरकारी डिस्पेंसरी से ही डिजिटल हेल्थ केअर मेडकॉर्ड्स सुविधा की शुरुआत हुई थी। शहर के दो आईटी ग्रेजुएट्स व को-फाउंडर श्रेयांस मेहता व  निखिल बाहेती की टीम ने पीएम नरेंद्र मोदी के डिजिटल इंडिया प्रोग्राम के तहत हेल्थ केअर को डिजिटाइज करने की शुरुआत सबसे निचले स्तर पर कोटा की सरकारी डिस्पेंसरी से ही की गई थी।