भेड़ें चुराने के लिए ही कर दिया इतना बड़ा अपराध

0
398

न्यूज चक्र @ अजमेर

जिले के केकड़ी थाना क्षेत्र के सापण्दा रोड पर 10 मई को हुई चरवाहे की हत्या के आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। रविवार को उसे अजमेर की अवकाशकालीन अदालत में पेश किया गया। वहां से उसे पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया।

डीएसपी राकेश पाल सिंह ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि कृष्णा नगर निवासी नबी हुसैन पुत्र गुलाम हुसैन की मीट मार्केट में दुकान है। 10 मई को वह दुकान के लिए बकरा देखने सापण्दा रोड़ गया था। यहां जंगल में चरती भेड़ों को देखकर उसके दिमाग में इन्हें चुराने और बेचकर कर्ज उतारने का प्लान आया। इसके लिए उसने एक पिकअप किराए पर ली और दोपहर को ही वापस सापण्दा लौट गया। वहां राजपुरा रोड निवासी चरवाहे शंकर पुत्र जगन्नाथ मेघवंशी अपनी भेड़ों को चरा रहा था। नबी हुसैन ने उसे बातों में उलझा कर रस्सी से गला घोंटकर मार दिया। बाद में मजीद फार्म हाउस पर जाकर लाश को वहां के कुएं  में डाल दिया। इसके बाद वहां चर रहीं 40 में से 30 भेड़ों को पिकअप में लेकर जयपुर चला गया और वहां उन्हें  बेच आया।

चरवाहे शंकर व 40 में से 30 भेड़ों के घर वापस नहीं लौटने पर परिजनों ने इस बात की शिकायत थाने में कर दी। पुलिस जांच में एक प्रत्यक्षदर्शी ने श्रीदेव लिखी पिकअप में भेड़ें चढ़ाते हुए एक युवक को देखने की बात बताई। इस पर पिकअप मालिक से पूछताछ की गई तो उसने किराए पर ले जाने वाले युवक की जानकारी दी। इस पर पुलिस ने नबी हुसैन को हिरासत में लेकर सच्चाई उगलवा सी। उसने बताया कि फाइनेंस कंपनी का कर्ज चुकाने के लिए उसने इस वारदात को अंजाम दिया था ।