कोटा जिला प्रभारी सचिव ने अधिकारियों को यह कैसा निर्देश दे दिया!

0
816
कोटा। जिला प्रभारी सचिव आलोक अधिकारियों की बैठक लेते हुए।

न्यूज चक्र @ कोटा

शासन सचिव राजस्व एवं जिला प्रभारी सचिव आलोक ने अधिकारियों को विकास कार्य समय पर पूरा करने के निर्देश दिए, ताकि जनता को उनका उचित लाभ मिल सके। साथ ही नगर निगम क्षेत्र में नगर विकास न्यास द्वारा विकसित कॉलोनियों में पेयजल वितरण के लिए उन्हें जलदाय विभाग को व सभी रोड लाइट नगर निगम को हस्तांतरित करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने मुख्य मार्गों से अस्थायी अतिक्रमणों को हटा साफ-सफाई की हिदायत भी दी। मगर शहर के हालातों व इस सम्बन्ध में समय-समय पर की गई कार्रवाइयों के परिणामों को देखते हुए यह असम्भव सा लगता है।
जिला प्रभारी सचिव शुक्रवार को कलक्ट्रेट स्थित टैगोर हॉल में विभागवार योजनाओं की प्रगति की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को सम्बोधित कर रहे थे। आलोक ने कहा कि सभी अधिकारी सरकार की योजनाओं व कार्यक्रमों में सक्रियता से भागीदारी निभाएं। आमजन को कार्य की क्रियान्विति का असर महसूस होना चाहिए। उन्होंने कहा कि वर्तमान में न्याय आपके द्वार व पट्टा वितरण अभियान ग्रामीण क्षेत्रों में संचालित है। शहरी क्षेत्रों में मुख्यमंत्री जनकल्याण शिविर आयोजित किए जा रहे हैं। इनमें सम्बन्धित विभाग सक्रियता से भागीदारी निभाते हुए सरकार की मंशा के अनुरूप आमजन को मौके पर लाभ प्रदान करें।

प्रभारी सचिव ने कोटा शहर में यातायात के दबाव को देखते हुए ट्रांसपोर्ट नगर विकसित करने, यूआईटी द्वारा  लगाई गई रोड लाइटों को नगर निगम को हस्तांतरित कर एलईडी लाईटों में परिवर्तित करने को भी कहा। उन्होंने कहा कि यूआईटी द्वारा  विकसित आवासीय क्षेत्रों में पेयजल सप्लाई के लिए जलदाय विभाग को हस्तांतरित कर यूआईटी आवश्यक संसाधन विकसित करे, जिससे आमजन को समय पर पेयजल उपलब्ध हो सके। जिला प्रभारी सचिव ने सीवरेज के कार्य को गति प्रदान करने के निर्देश देते हुए कहा कि शहर की साफ-सफाई के लिए सीवरेज ट्रीटमेन्ट प्लांट, घर-घर कचरा संग्रहण व ओडीएफ के लिए प्रयास तेज किए जाएं। उन्होंने मुख्य मार्गों से अस्थाई अतिक्रमणों को हटवाकर साफ-सफाई की नियमित मॉनिटरिग करने तथा पार्क व उद्यानों के रखरखाव के निर्देश भी दिए। उन्होंने विभिन्न योजनाओं के तहत किए जा रहे कार्यों की भी समीक्षा करते हुए आवयक दिशा-निर्देश दिए।
जिला कलक्टर रोहित गुप्ता ने अधिकारियों से टीम भावना के अनुरूप कार्य करते हुए योजनाओं का व्यापक प्रचार-प्रसार करने व विकास कार्यों को समयबद्धता से पूरा करने को कहा। बैठक में पुलिस अधीक्षक शहर अंशुमान भौमिया, पुलिस अधीक्षक ग्रामीण डॉ. राजीव पचार, अतिरिक्त कलक्टर प्रशासन सुनिता डागा, अतिरिक्त कलक्टर नगर बीएल मीणा, सीईओ जिला परिषद जुगल किशोर मीणा, नगर निगम आयुक्त डॉ. विक्रम जिन्दल आदि अधिकारी भी मौजूद रहे।