कोटा थर्मल बचाओ संघर्ष समिति ने मनाया जीत का जश्न

0
351

न्यूज चक्र @ कोटा

कोटा थर्मल के निजीकरण की आशंका और इसकी चार यूनिटों को बंद करने के विरोध में चलाए गए आन्दोलन की सफलता पर मंगलवार को समिति के सदस्यों व पदाधिकारियों ने जश्न मनाया।

समिति के संयोजक रामसिंह शेखावत, सह संयोजक शिवपाल चौधरी, आज़ाद शेरवानी , चन्द्रशेखर चौधरी, राकेश डगोरिया और श्याम पंवार का इस अवसर पर माल्यार्पण कर अभिनंदन किया गया ।
करीब दो माह चले कोटा थर्मल बचाओ आंदोलन के तहत सोमवार को जयपुर में ऊर्जा राज्य मन्त्री से विधायक प्रहलाद गुंंजल की मौजूदगी में समिति के पदाधिकारियों की वार्ता हुुुई थी। इसमें मंत्री के निर्देश पर विद्युत उत्पादन निगम के सीएमडी ने समिति को लिखित  में आश्वासन दिया कि राज्य सरकार के समक्ष कोटा थर्मल के निजीकरण या इसकी यूनिटों को बंद करने का कोई भी प्रस्ताव विचाराधीन नहीं । इस पर  संघर्ष समिति ने आन्दोलन समाप्त कर दिया था।

मगर अभी भी है यह असमंजस बरकरार

निजीकरण व यूनिट बन्द नहीं करने का तो सरकार ने संघर्ष समिति को आश्वासन दे दिया है,  मगर थर्मल के मजदूरों का रोज़गार बचाना भी संघर्ष समिति का लक्ष्य है। इसके लिए कोटा थर्मल की इकाइयों का चलते रहना भी आवश्यक है। संघर्ष समिति ने सरकार से उम्मीद जताई है कि थर्मल की  सभी इकाइयों को चलाने का प्रबंध किया जाएगा। मगर यदि किसी भी कर्मचारी या ठेका श्रमिक के रोजगार पर संकट आता है तो संघर्ष समिति फिर आंदोलन के लिए तैयार रहेगी l