हत्या के आरोपी दो भाईयों को आजीवन कारावास

0
180

न्यूज चक्र @ बून्दी

एडीजे नम्बर 2  ने सोमवार को छह साल पुराने बहुचर्चित हत्या के मामले में दो आरोपी भाईयों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई।

लोक अभियोजक भूपेन्द्र सहाय सक्सेना ने बताया कि  10 अक्टूबर 2011 को खजूरी गांव में हैंडपम्प पर सरकारी जमीन के विवाद को लेकर कुलदीप पुत्र मोहन सिंह राजपूत से शंकर लाल मीणा, कमलेश मीणा आदि ने मारपीट की। यह जानकारी मिलने पर मोहन सिंह आरोपियों के घर उन्हे समझाने  पहुंचे। मगर आरोपियों ने मोहन सिंह को घेर लिया और मकान के अंद ले गए। वहां उस पर  कुल्हाड़ियों से वार कर हत्या कर दी । इस प्रकरण में अभियोजन पक्ष ने अपना पक्ष साबित करने के लिए कुल 27 गवाहों के बयानात करवाए और 58 दस्तावेज प्रदर्शित करवाया । दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद न्यायालय ने शंकर लाल पुत्र बद्रीलाल और कमलेश पुत्र बद्रीलाल मीणा को दोषी मानते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई , वहीं दो अन्य आरोपियों को बरी कर दिया ।