5 पुलिसकर्मियों के खिलाफ कब्जेधारियों को अवैध तरीके से बेदखल करने का केस दर्ज होगा

0
554

न्यूज चक्र @ कोटा
पीडीपीएनटी कोर्ट ने मंगलवार को उद्योग नगर थाने को उसी के एक एएसआई सहित पांच पुलिसकर्मियों, गुमानपुरा थाने के एक होमगार्ड तथा चार अन्य व्यक्तियों के खिलाफ थेकड़ा स्थित सरदारों के फार्म से कब्जेधारियों को अवैध तरीके से मारपीट कर बेदखल करने आदि आरोपों में अनुसंधान कर केस दर्ज करने का आदेश दिया है।
गौरतलब है कि इस सम्बंध में राजरानी पत्नी स्वण्गुलजार सिंह व उनके पुत्र सूरज व पुत्री कृष्णा की ओर से न्यायालय में सीनियर एडवोकेट जितेन्द्र पाठक के जरिये  परिवाद पेश किया गया था। इसमें जगजीवन मुनोत एवं उनके पुत्रों मनोज, अरुण व राजकुमार, उद्योग नगर थाने के पुलिसकर्मी सुनील, रामप्रसाद, सतवीर, चन्द्रभान, एएसआई विनोद कुमार तथा गुमानपुरा थाने में तैनात होमगार्ड जवान अजय सिंह को आरोपी बनाया गया था। इसमें विभिन्न तारीखों का हवाला देते हुए कहा गया था कि जगजीवन मुनोत व उनके पुत्रों के हित में पुलिसकर्मी उनके तीस साल से कब्जेशुदा फार्म को लम्बे समय से खाली कराने के लिए धमकी देते आ रहे थे। इसमें जगजीवन व उनके पुत्र भी शामिल रहे। बीच में उनसे इस संबंध में जबरन खाली कागजों पर हस्ताक्षर करवाए गए। इसी क्रम में एक दिन फार्म पर सूरज व कृष्णा ही थे। पीछे से आरोपियों ने आकर उनसे मारपीट की, चाकू से वार किया, जिससे हाथ पर चोट आई। इसके बाद फार्म से दूर ले गए। बाद में वापस मौके पर लेकर गए तो टाटा 407 में उनका सारा सामान भरा हुआ था। तभी जानकारी मिलने पर राजरानी भी मौके पर पहुंच गई। परिवाद के अनुसार उन्होंने गाड़ी में सामानों को देखा तो उनमें से सात तोले सोने के जेवर व 18 हजार रुपए गायब मिले। मगर कूकर में रखे हुए 5 हजार रुपए मिल गए।