महाराष्ट्र में 12 टोल बूथ बंद होंगे, मिलेगी राहत

0
436

न्यूज चक्र@ मुम्बई

महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली सरकार ने राज्य में 12 टोल बूथ आगामी 31 माई को मध्य रात्रि से बंद किए जाने की घोषणा कर दी है। इसके अलावा कार, जीप, हल्के मोटर वाहन (एलएमवी) और महाराष्ट राज्य सड़क परिवहन निगम की बसें अन्य 53 टोल बूथों पर टोल टैक्स से बाहर रहेंगी। हालांकि मुंबई शहर से आने वाले या जाने वाले यात्रियों को 5 चूंगी बूथों पर टोल टैक्स देना होगा। इसी तरह, मुम्बई पुणे एक्सप्रेस वे से गुजरने वाले यात्रियों को भी टोल का भुगतान करना होगा। ऐसा 31 जुलाई तक अतिरिक्त मुख्य सचिव (लोक कार्य) के नेतृत्व में गठित एक उच्च स्तरीय समिति की रिपोर्ट आने तक जारी रहेगा।
मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि 12 टोल बूथ में 11 उन सड़कों पर परिचालन में हैं जो राज्य नियंत्रित महाराष्ट्र राज्य सड़क विकास निगम (एमएसआरडीसी) द्वारा विकसित किए गए हैं। एक सड़क का विकास लोक निर्माण विभाग ने किया है। जहां तक शेष 53 टोल बूथ का सवाल है इनमें 27 का विकास लोक निर्माण विभाग ने और 25 एमएसआरडीसी ने विकसित किए हैं। हालांकि मुख्यमंत्री ने यह स्पष्ट नहीं किया कि टोल संग्रह बंद होने से राज्य सरकार को होने वाले नुकसान की भरपाई भाड़ी वाहनों पर टोल बढ़ा कर की जाएगी।

राज्य सरकार ने वित्त वर्ष 2015-16 के बजट में भी इस घाटे की प्रतिपूर्ति के लिए कोई प्रावधान नहीं किया है। भाजपा ने पिछले साल विधानसभा चुनाव के प्रचार के दौरान महाराष्ट को ‘टोल मुक्त’ बनाने का वादा किया था। हालांकि 31 अक्टूबर को सत्ता संभालने के बाद फडणवीस ने स्पष्ट किया था कि उनकी पार्टी ने कभी ऐसा आश्वासन नहीं दिया था। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी ने यह जरूर कहा था कि सरकार उन टोल बूथों को जरूर बंद करेगी जहां यात्रियों से अधिक कर लिए जा रहे हैं।