पंचायत समिति तालेड़ा में समीक्षा बैठक आयोजित, सीईओ ने दिए अहम निर्देश

0
349
बून्दी। पंचायत समिति तालेड़ा के सभाभवन में विभिन्न योजनाओं की समीक्षा करते जिला परिषद के सीईओ मुरलीधर प्रतिहार। साथ में अन्य अधिकारी-कर्मचारी।

न्यूज चक्र @ बून्दी
ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज विभाग की विभिन्न योजनाओं के क्रियान्वयन में पंचायत स्तर पर आ रही समस्याओं के समाधान के लिए मंगलवार को पंचायत समिति तालेड़ा में बैठक आयोजित हुई। सीईओ जिला परिषद मुरलीधर प्रतिहार ने इसकी अध्यक्षता की।
सीईओ प्रतिहार ने बैठक में विभिन्न योजनाओं की समीक्षा करते हुए ग्राम सेवक पदेन सचिवों को आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पंचायतों में लाभार्थियों के आवास निर्माण की वित्तीय स्वीकृति के साथ ही मस्टररोल जारी करते हुए आवास निर्माण के लिए राशि की प्रथम किस्त जारी करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने तहसीलदार रजनी माधीवाल सीमाज्ञान से शेष रही पंचायतों के लिए तत्काल कार्यक्रम निर्धारित कर सीमा ज्ञान करवाने तथा पूर्व में आबादी विस्तार के लिए आवंटित भूमि से अतिक्रमण हटवाने के लिए रजनी माधीवाल को हिदायत दी। साथ ही बून्दी जिले में आने वाली यूआईटी कोटा के अधिकार क्षेत्र की 11 पंचायतें, जिनकी भूमि संबंधित विभाग को नहीं दी गई है में संबंधित पात्र लाभार्थियों को आवास निर्माण के लिए नियमानुसार आबादी भूमि में अविलंब पट्टे देने की कार्यवाही करने को भी कहा। महात्मा गांधी नरेगा योजना के तहत स्वीकृत कार्यों पर श्रमिक नियोजन की कार्यवाही करने के निर्देश भी दिए। विधायक एवं सांसद कोष से निर्मित परिसंपत्तियों के उपयोगिता एवं पूर्णता प्रमाण पत्र अविलम्ब जिला परिषद कार्यालय में भिजवाने को भी कहा।
सीईओ ने गुरू गोलवलकर जन सहभागिता योजना के तहत पूर्ण करवाए जा चुके कार्यो की यूसी व सीसी 3 दिवस में भिजवाने को कहा। आंगनबाड़ी भवन निर्माण सहित विभिन्न योजनाओं के तहत करवाए जा रहे कार्यों में राज्य सरकार व उच्चाधिकारियों के निर्देशों की पालना करने की हिदायत दी। मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन योजना के कार्य समय सीमा में पूर्ण करवाने, इसके लिए तकनीकि कार्मिक व अधिकारियों के द्बारा कार्यों का नियमित निरीक्षण करते हुए आने वाली समस्याओं से उच्चाधिकारियों को अवगत करवाने के निर्देश भी दिए।
उन्होंने निर्देश दिए कि कार्यों में राशि उपयोग उपरान्त समायोजन में आने वाली छोटी-छोटी समस्याओं व कमियों का निस्तारण करने के लिए सम्बंधित ग्राम सेवक पदेन सचिव सीधे ही विकास अधिकारी व जिला परिषद से सम्पर्क कर निस्तारण करवाए।
बैठक में अधिशाषी अभियंता परियोजना सत्यनारायण उपाध्याय, अधिशाषी अभियंता नरेगा हरिप्रसाद मीणा, लेखाधिकारी परियोजना बृजमोहन मीणा, विकास अधिकारी जगजीवन, सहायक अभियंता संजय जिन्दल, सहायक कार्यक्रम अधिकारी सुरेश सैन सहित विभिन्न पंचायतों के कार्मिक मौजूद थे।