जीन देवता ही जीन प्रभावना का करण: मुनि विश्रान्त महाराज

0
1279

न्यूज चक्र @ बून्दी
मुनि श्री 108 विश्रान्त सागर महाराज ने कहा कि जीन देवता ही जीन प्रभावना का करण हैं। जिस प्रकार कठोर से कठोर मिट्टी पर पानी डालते ही वह कोमल हो जाती है, वैसे ही जीनदेषणा पड़ने से परिणाम भी निर्मल हो जाते हैं। जीन जीवों पर जीन देषणा चली जाती है। उनका मन तो केवल गुरूश्री के चरणों में ही लगता है। मुनी श्री रविवार को श्री दिगम्बर जैन बघेरवाल छात्रावास में धर्मसभा को संबोधित कर रहे थ्ो। इससे पूर्व प्रात: गुरूनानक कॉलोनी से देवपुरा छात्रावास तक मुनीश्री को जुलूस के रूप में लाया गया।
इसके बाद मुनिश्री के पंचम दीक्षा महोत्सव का शुभारम्भ श्रेष्ठी महावीर प्रसाद , मनोज कुमार व अक्षय कुमार धनोप्या ने दीप प्रज्वलन तथा प्रकाश चंद , हेमन्त कुमार व जसवन्त कुमार ने चित्र का अनावरण कर किया। यहां जैन संस्कार महिला मंडल द्बारा मंचलाचरण गायन व सम्यक ज्ञान पाठशाला की बालिकाओं के द्बारा नृत्य संभवनाथ किया गया। स्वागत सम्मान महेन्द्र कुमार हरसौरा, चन्द्रप्रकाश, दिनेश कुमार, मनन धनोप्या, महेन्द्र कुमार व भुवनेश ठग तथा स्वागत नृत्य आदीश्वर बालिका मंडल ने किया। यहां पादप्रक्षालन महेन्द्र कुमार हरसोरा व शास्त्र भेंट केसरी लाल पवन कुमार धनोप्या ने किया। बालकवि आदित्य जैन ने कविता पाठ किया गया।
इस अवसर पर बून्दी विधायक अशोक डोगरा,जिला कलक्टर नरेश कुमार ठकराल व सभापति महावीर मोदी व दिगम्बर जैन बघेरवाल संघ के अध्यक्ष महेन्द्र हरसोरा अतिथि थ्ो। जैन यूथ क्लब के नरेन्द्र कुमार जैन, ओम प्रकाश ठग, पारस हरसोरा व मनोज हरसोरा ने इनका सम्मान किया। अतिथियों ने समाजबंधुओं को संबोधित कर गुरूदीक्षा की बधाई दी।
प्रवक्ता पदम कुमार बरमुण्ड़ा ने बताया कि अष्ठ द्रव्य द्बारा मुनिश्री का पूजन फ्रेण्डस महिला मंडल, आदर्श महिला मंडल, संकल दिम्बर जैन महिला मंडल, चिंतामणी सोशल ग्रुप, देवेन्द्र कुमार हरसोरा, चेतना महिला मंडल, आदिश्वरी महिला क्लब व जैन यूथ क्लब ने किया।
मुनिश्री ने धर्मसभा को संबोधित करते हुए कहा कि सभी समाजों को आपस में मिलजुल कर रहना चाहिए। साधुओं का मिलन होता है तो आपको प्रसन्नता होती है, वैसे ही आप के संगठित रहने से साधुओं को भी प्रसन्नता होती है। कार्यक्रम के अंत में पिच्छी परिवर्तन भी किया गया। मुनिश्री को पिच्छी भेंट करने का सौभाग्य महेन्द्र हरसौरा को प्राप्त हुआ। जैनयूथ क्लब के अध्यक्ष नरेन्द्र कुमार जैन ने अंत में सभी का आभार व्यक्त किया।