नहीं बढ़ेगी दिल्ली के विधायकों की सैलरी, केन्द्र सरकार ने लौटाया प्रस्ताव

0
310

न्यूज चक्र @ नई दिल्ली
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल को एक और झटका लगा है। केन्द्र सरकार ने विधायकों का वेतन चार सौ फीसदी बढ़ाए जाने का उनका प्रस्ताव नकारते हुए उसे वापस कर दिया है। इससे फिलहाल तो उनके विधायकों के सपने भी टूट गए हैं।
गौरतलब है कि दिल्ली की अरविद केजरीवाल सरकार ने विधायकों की सैलरी में 400 फीसदी बढ़ोतरी किए जाने की मांग की थी। केन्द्र सरकार ने उपराज्यपाल के माध्यम से इस बिल को यह कहते हुए वापस भेज दिया है कि दिल्ली सरकार ‘वैधानिक प्रक्रिया’ के तहत इसे दोबारा सही फॉर्मेट में भेजे।
सूत्रों के अनुसार गृह मंत्रालय दिल्ली सरकार की इस बात पर स्पष्टीकरण चाहता है कि क्या दिल्ली में विधायकों के रहने की लागत 400 प्रतिशत तक बढ़ी है? गृह मंत्रालय ने केजरीवाल सरकार के इस बिल को एक-लाइन की सलाह लिखकर, ‘यह बिल सही फॉर्मेट के साथ नहीं भेजा गया है। इसे तभी आगे बढ़ाया जा सकता है, जब यह सही तरीके के साथ भेजा जाए’ के साथ वापस भेज दिया।
यह है मामला
वर्ष 2015 में दिल्ली विधानसभा ने विधायकों की सैलरी में संशोधन सम्बंधी यह बिल पास किया था। इसमें विधायकों की सैलरी 88 हजार से बढ़ाकर 2 लाख 10 हजार रुपए करने का प्रस्ताव रखा था। यातायात भत्ता भी 50 हजार से बढ़ाकर तीन लाख प्रति वर्ष करने का प्रावधान किया था।