जानें, कहां और क्यूं निजी डॉक्टर फ्री सेवा देंगे

0
454

न्यूज चक्र @ बून्दी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘मन की बात’ का असर कहें या स्वयं के दिल की आवाज का, कि जिले के निजी चिकित्सक प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत पूर्णतया नि:शुल्क सेवाएं दे रहे हैं। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से हर माह की 9 तारीख को मनाए जाने वाले सुरक्षित मातृत्व दिवस में ये चिकित्सक गर्भवती महिलाओं को जांच कर न केवल उनका उपचार कर रहे हैं, बल्कि उन्हें गर्भावस्था के दौरान रखे जाने वाली सावधानियों के प्रति जागरुक भी कर रहे हैं। खास बात ये है कि सभी चिकित्सक दूर-दराज के गांव-कस्बों में स्थित स्वास्थ्य केंद्रों में जाकर सेवाएं दे रहे हैं।

सीएमएचओ डॉ. सुरेश जैन  ने  बताया कि गत वर्ष 9  जून को देश में प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान शुरू किया गया था। इसके तहत हर माह की 9 तारीख सुरक्षित मातृत्व दिवस मनाकर गर्भवती महिलाओं को नि:शुल्क स्वास्थ्य जांच कर उपचार दिया जा रहा है। अभियान का मुख्य उद्देश्य गर्भवती महिलाओं को स्वस्थ जीवन प्रदान करना, मातृत्व मृत्यु दर को कम करना, गर्भवती महिलाओं को उनके स्वास्थ्य के मुद्दों व रोगों के बारे में जागरूक करना, बच्चे के स्वस्थ जीवन और सुरक्षित प्रसव को सुनिश्चित करना आदि है। गर्भावस्था के तीन से छह महीने के अंतराल में महिलाएं अभियान का लाभ ले सकती हैं। इस दौरान मुख्यतया रक्तचाप, शर्करा के स्तर, वजन, हीमोग्लोबिन परीक्षण, रक्त परीक्षण और स्क्रीनिंग सहित कई परीक्षणों को राजकीय चिकित्सा केन्द्रों पर किया जा रहा है। डॉ. जैन ने कहा कि निश्चित ही चिकित्सकों की यह पहल काबिले तारीफ है और संभवतया इन चिकित्सकों से अन्य चिकित्सक भी प्रेरित होंगे और अपनी सेवाएं देकर न केवल गर्भवती महिलाओं को बल्कि सामान्य मरीजों को लाभान्वित करेंगे।