कोटा में हवाई सेवा शुरू होने के मार्ग में अब क्या है बाधा?

0
402

न्यूज चक्र @ कोटा
केन्द्र सरकार के नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने कोटा हवाई अड्डे को छोटे विमानों के संचालन के लिए उपयुक्त मान लिया है। इससे यहां से एक बार फिर शीघ्र हवाई सेवा शुरू होने की आस बंधी है। केन्द्रीय नागर विमानन मंत्री पी.अशोक गजपति राजू ने कोटा-बून्दी सांसद ओम बिरला के द्बारा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं केन्द्रीय उड्डयन मंत्रालय को लिखे गए पत्र के जवाब में यह जानकारी दी है।
सांसद बिरला के प्रवक्ता जीवनधर जैन ने बताया कि केन्द्रीय मंत्रालय से प्राप्त पत्र में जानकारी दी गई है कि कोटा हवाई अड्डा भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई )का प्रचालनरत हवाई अड्डा है। यह उपयुक्त मौसम स्थितियों में कोड 1ए/1बी/1सी के छोटे विमानों के प्रचालन के लिए उपयुक्त है। एएआई द्बारा चिह्नि्त किए गए सभी अवरोधों को राज्य सरकार द्बारा हटा दिए जाने पर कोटा हवाई अड्डे से छोट विमानों का प्रचालन आरम्भ किया जा सकता है। केन्द्र सरकार के द्बारा यह जानकारी भी दी गई है कि वर्तमान हवाई अड्डे के चारों ओर घनी शहरी आबादी होने की वजह से इसके विस्तार की संभावना नहीं है। केन्द्र सरकार ने कहा है कि क्षेत्रीय सम्पर्कता योजना (उड़ान) के तहत कोटा हवाई अड्डे को उन 398 हवाई अड्डों की सूची में शामिल किया गया है, जिन्हे नागर विमानन मंत्रालय के साथ समझौता झापन करने वाले प्रचालकों और राज्य सरकारों की ओर से मांग के आधार पर प्रचालनीकृत किया जा सकता है। केन्द्रीय मंत्री ने पत्र में यह भी कहा है कि कोटा में ग्रीन फील्ड हवाई अड्डे के लिए राज्य सरकार किसी उपयुक्त स्थल का चयन कर ग्रीन फील्ड हवाई अड्डा नीति के तहत सैद्धांतिक अनुमोदन के लिए नागर विमानन मंत्रालय से सम्पर्क कर सकती है।
जैन के अनुसार सांसद ओम बिरला ने राज्य की मुख्यमंत्री से बात कर राज्य सरकार के स्तर पर औपचारिकताओं को पूर्ण कर कोटा में हवाई सेवा शुरू करने का आग्रह किया। इस पर मुख्यमंत्री ने सांसद बिरला को आश्वस्त किया है कि जल्द ही कोटा से हवाई सेवा को शुरू कर दिया जाएगा।