कोटा में कांग्रेस और बीजेपी कार्यकर्ता हुए आमने-सामने, जमकर की नारेबाजी

0
324

न्यूज चक्र @ कोटा
तीन दिन पूर्व राज्य के चिकित्सा मंत्री कालीचरण सर्राफ द्वारा पूर्व मंत्री शांति धारीवाल के खिलाफ सार्वजनिक मंच से की गई विवादास्पद टिप्पणी के खिलाफ बुधवार को प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस कार्यकर्ताओं की भाजपा कार्यकर्ताओं से झड़प होते-होते बची। मगर इस बीच भारी गर्मा- गर्मी माहौल में दोनों ने एक-दूसरे के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर अपनी भड़ास निकाली। पुलिस ने भारी मशक्कत कर मामले को शांत कराया।
दरअसल मंत्री सर्राफ ने धारीवाल को ढपोरशंख कहने के अलावा उनके बारे में और भी टिप्पणियां की थीं। इसी से यहां कांग्रेस के धारीवाल समर्थक गुट में भारी आक्रोश था। पूर्व पीसीसी सदस्य राजेन्द्र सांखला भी धारीवाल के कट्टर समर्थक माने जाते हैं। उन्ही की अगुवाई में कांग्रेस कार्यकर्ता सब्जी मंडी स्थित भाजपा कार्यालय का घेराव करने जा रहे थे। यह जानकारी मिलने पर भाजपा कार्यकताã भी कार्यालय पर एकत्र हो गए और नारेबाजी करने लगे। हंगामे की आशंका को देखते हुए एएसपी अनंत कुमार व डीएसपी राजेश मेश्राम ने भारी पुलिस बल की मदद से कांग्रेसियों को रास्ते में ही बेरिकेड लगाकर रोक दिया।
इस दौरान भाजपा कार्यकर्ता भी पूर्व मंत्री धारीवाल के खिलाफ नारेबाजी करते हुए बेरिकेड तक पहुंच गए और हंगामा करने लगे। काफी देर तक आमने-सामने एक दूसरे के नेताओं के खिलाफ नारेबाजी करने के बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मंत्री कालीचरण सर्राफ का पुतला फूंका। बाद में पुलिस ने दोनों पक्षों के कार्यकर्ताओं को समझाइश कर शांत करवाया।
क कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन के बाद चेतावनी दी कि भविष्य में मंत्री कालीचरण सर्राफ के कोटा आने पर जोरदार विरोध किया जाएगा।