पाकिस्तानी मूल के लेखक ने की मोदी की तारीफ, नोटबंदी को बताया ऐतिहासिक कदम

0
986
Image Source: India Facts
Image Source: India Facts
Image Source: India Facts

न्यूज चक्र @ जयपुर

500 व 1000 रुपए के नोट बंद कर देने के मसले पर विरोधी पार्टियों का निशाना बन रहे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की पाकिस्तानी मूल के लेखक तारिक फतह ने जमकर तारीफ करते हुए फैसले को ऐतिहासिक कदम बताया। उन्होंने यहां तक कहा कि इससे पाकिस्तान की कमर टूट जाएगी। पाकिस्तान की सरकार पर अन्य विभिन्न मुद्दों को लेकर जमकर बरसे। तारिक शनिवार को अणुविभा केन्द्र में जयपुर डॉयलॉग फोरम की ओर से आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थ्ो।

भारतीय हिन्दुओं-मुस्लिमों में कभी नहीं होगा तलाक

तारिक ने भारत के हिन्दुओं व मुसलमानों की एकता को ऐसा निकाह बताया, जिसमें तलाक की जगह नहीं है। अपने चिरपरिचित बेबाक अंदाज में उन्होंने पाकिस्तान को गुंडा देश करार देने के साथ उसे आतंकियों का सरपरस्त कहा। यह भी कहा कि बलूचिस्तान की आजादी में पाकिस्तान की बर्बादी छुपी हुई है। तारिक बोले कि जिसने लोगों को चाय पिलाई वो आज भारत का बेहतर प्रधानमंत्री है, जिसकी जितनी तारीफ की जाए उतनी कम है। तारिक फतह ने पाकिस्तान को आंतकवादी देश बताया। साथ ही कहा कि देश में पांच सौ और एक हजार के नोटबंदी का असर पाकिस्तान में लगी प्रिटिग प्रेस पर भी हुआ है। तारिक का ये इशारा पाकिस्तान से छपकर आने वाले नकली नोटों की खेप की ओर था। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के कराची शहर में नकली भारतीय मुद्रा को छापने के लिए लगी दो प्रिटिग प्रेस भारत में हुई नोटबंदी के कारण बंद हो गई हैं। जिसका सीधा असर आतंकवादी गतिविधियों पर पड़ेगा। उनके मुताबिक बांग्लादेश-दुबई की ओर से जो रुपया आता है वो भी नोटबंदी के कारण वहां से आना बंद हो गया है। नोटबंदी के कारण पाकिस्तान की कमर टूट गई है और दाउद इब्राहिम के रुपए भी किसी काम के नहीं रहे हैं। हिन्दुस्तान मुसलमानों के लिए सबसे सुरक्षित जगह तारिक यहीं नहीं रुके बल्कि धर्म के नाम पर राजनीति करने वालों को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि पाकिस्तानी शहरों में एक भी हिन्दू नहीं है। वहीं भारत में हर कहीं मुसलमान हैं और हिन्दुस्तान उनके लिए सबसे सुरक्षित जगह है। उन्होंने कहा कि जो लोग पाकिस्तान के साथ अच्छे ताल्लुक रखने की बात करते हैं, उनका दोहरा चरित्र है। उनकी कथनी और करनी में फर्क है। ममता और केजरीवाल कालेधन के पक्षधर तारिक अपने चिर-परिचित अंदाज में इस्लाम की आड़ लेकर धर्म का ठेके लेने वालों पर भी बरसे। उन्होंने कहा कि जो मुसलमान हिन्दुओं से नफरत करता है उसे हिन्दुस्तान में रहने का हक नहीं है। इतना ही नहीं बल्कि तारिक ने नोटबंदी पर ममता बनर्जी और अरविन्द केजरीवाल के विरोध को भी अंदर की बोखलाहट बताते हुए कालेधन का पक्षधर तक बता दिया।