स्वतंत्रता सेनानी ओझा की पत्नी सूरज कंवर का किया सम्मान

0
288

न्यूज चक्र @ बूंदी


कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलेट के जन्म दिवस के अवसर पर आयोजित किए जा रहे कार्यक्रमों के क्रम में तीसरे दिन एनएसयूआई की ओर से स्वतंत्रता सेनानी एवं पुलिस अधिकारी रहे दिवंगत कुंजबिहारी ओझा की पत्नी सूरज कंवर ओझा का सम्मान किया गया। इस अवसर पर वयोवृद्ध सूरज कंवर ने भावुक होकर अपने संस्मरण भी सुनाए। साथ ही देश की वर्तमान दशा पर बेहद दुख भी जताया।

पूर्वमंत्री एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हरिमोहन शर्मा सहित राजस्थान युवा कांग्रेस के प्रदेश महासचिव चर्मेश शर्मा, वरिष्ठ कांग्रेसी नरेन्द्र सिंह राणावत, जिला कांग्रेस महासचिव सत्येश शर्मा, नगर परिषद के पूर्व सभापति सदाकत अली व बून्दी ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष संजय तम्बोली अमर कटला स्थित ओझा के निवास पर पहुंचे। यहां इन नेताओं ने सूरज कंवर को शॉल ओढ़ाने के साथ श्रीफल व स्मृति चिह्न् भेंट कर व माल्यार्पण कर अभिनन्दन किया। इस अवसर पर एनएसयूआई जिलाध्यक्ष एवं पार्षद रोहित बैरागी, प्रदेश सचिव युधिष्ठर मीणा, लोकसभा महासचिव जगरूप सिंह रंधावा, पूर्व जिलाध्यक्ष महावीर मीणा,युवा कांग्रेस के लोकसभा महासचिव इमरान कादरी, लोकसभा सचिव मोहसिन बैग, पीयूष शर्मा, हिमालय वर्मा, राजन पालीवाल, रोहित दाधीच आदि भी मौजूद थे । सभी ने सूरज कंवर ओझा से आशीर्वाद भी लिया।

भ्रटाचार व स्वार्थ ने डुबो दिया देश को

इस अवसर पर सूरज कंवर की आंखें भर आईं। उन्होंने कहा कि उनके पति सहित अन्य स्वतंत्रता सेनानियों ने नि:स्वार्थ भाव से देश को आजाद करवाने के लिए यातनाएं सही थीं। लेकिन आज भ्रटाचार व स्वार्थ ने देश को डुबो कर रख दिया है। हर तरफ स्वार्थ के लिए हाहाकार मचा हुआ है। देश के लिए कोई नहीं सोच रहा। यह बहुत दु:खद स्थिति है। स्वतंत्रता सेनानियों ने ऐसे हालात के लिए आजादी की लड़ाई मे कुर्बानियां नहीं दी थीं।

भारत छोड़ो आंदोलन में जेल में बंद थे ओझा, उस समय तय हुई थी शादी

सूरज कंवर ने भावुक होते हुए अपने जीवन व स्वतंत्रता संग्राम से जुड़े हुए संस्मरण भी सुनाए। उन्होंने कहा कि वर्ष 1942 में भारत छोड़ो आंदोलन के दौरान उनके कुंज बिहारी ओझा जेल में थे। इसी बात से प्रभावित होकर उनके पिता ने उनकी ओझा से शादी तय की थी। सूरज कंवर मूल रूप से महाराष्ट्र के अकोला जिले की रहने वाली हैं।

कांग्रेस कार्यालय मे हुई विचार गोष्ठी

स अवसर पर जिला कांग्रेस कार्यालय में ‘स्वतंत्रता सेनानियों की युवा पीढ़ी को प्रेरणा’ विषय पर विचार गोष्ठी भी आयोजित की गई। इसे संबोधित करते हुए पूर्व मंत्री हरिमोहन शर्मा ने कहा कि स्वतंत्रता सेनानियों ने अपना सर्वस्व न्योछावर करते हुए देश की सेवा में अपना जीवन लगा दिया था। इसी प्रकार आज के युवाओं को भी नि:स्वार्थ भाव से राष्ट्रसेवा की प्रेरणा लेकर कार्य करना चाहिए। राजस्थान युवा कांग्रेस के प्रदेश महासचिव चर्मेश व एनएसयूआई जिलाध्यक्ष रोहित बैरागी ने भी संबोधित किया।

 भीलों के बरडे में बांटी जाएगी पाठ्य सामग्री

एनएसयूआई जिलाध्यक्ष बैरागी ने बताया कि 10 दिवसीय कार्यक्रमों के तहत चौथे दिन रविवार को भीलों के बरडे में निर्धन विद्यार्थियों को पाठ्य सामग्री वितरित की जाएगी। इस अवसर पर राजस्थान कांग्रेस कमेटी सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष क्रांति तिवारी मुख्य अतिथि होंगे।