भ्रष्टाचार के आरोपों से चौतरफा घिरे नगर परिषद आयुक्त

कांग्रेस ने जुलूस निकाल जिला कलक्टर को दिया ज्ञापन, भारी भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए जांच की मांग की, परिषद के बाहर फूंका पुतला, कर्मचारियों ने भी की बैठक, सात दिन में कार्यशैली सुधार लेने की दी चेतावनी

0
720
बूंदी। नगर परिषद के बाहर आयुक्त पंकज मंगल का पुतला लिए प्रदर्श करते कांग्रेसी कार्यकर्ता, पदाधिकारी व पार्षद।

न्यूज चक्र @ बूंदी
नगर परिषद में व्याप्त कथित भ्रष्टाचार व अनियमितताओं की जांच की मांग को लेकर कांग्रेस ने सोमवार को कलक्ट्रेट पर जमकर प्रदर्शन कर जिला कलक्टर नरेश कुमार ठकराल को दस सूत्री ज्ञापन सौंपा। यहां से नगर परिषद पहुंच आयुक्त का पुतला फूंका। दूसरी ओर नगर परिषद के कर्मचारियों ने भी अलग से मोर्चा खोलते हुए रानीजी की बावड़ी पर बैठक कर आयुक्त की कार्य प्रणाली की आलोचना की।
पार्षद मोहम्मद रऊफ के साथ पार्टी के कार्यकताã व पदाधिकारी 11 बजे से रेडक्रॉस पर एकत्रित होना शुरू हुए। यहां से वे जुलूस के रूप में कलक्ट्रेट के लिए रवाना हुए। कांग्रेसी कार्यकर्ता  इस दौरान नगर परिषद में भारी भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए नारेबाजी कर रहे थे। कलक्ट्रेट पहुंच कुछ देर प्रदर्शन करने के बाद जिला कलक्टर नरेश कुमार ठकराल को ज्ञापन दिया। यहां से यह जुलूस नगर परिषद रवाना हुआ। यहां पहुंच कर भी इन्होंने नगर परिषद में व्याप्त कथित भ्रष्टाचार की जांच की मांग को लेकर आयुक्त पंकज मंगल के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। यहां इनके पास आयुक्त का पुतला भी था। कुछ देर प्रदर्शन के बाद पुतला फूंका।

  • कलक्टर को यह दिया ज्ञापन
  • जिला कलक्टर को दिए ज्ञापन में कांग्रेस ने नगर परिषद की बोर्ड बैठक में अंडर ग्राउंड कचरा पात्र डालने की स्वीकृति नहीं देकर अलग से कचरा डलवाने की स्वीकृति जारी करने का आरोप लगाया गया है। साथ ही कहा है कि इस स्वीकृति को बोर्ड की कार्यवाही में शामिल कर नॉन डीएसआर रेट पर 97 लाख का टेंडर निकाल दिया गया। स्वच्छ भारत मिशन के तहत बिना टेंडर के ही कचरा पात्र मंगवाने व स्वच्छ भारत मिशन में प्राप्त बजट का उपयोग अपने चहेते लोगों के हित में करने, कुम्भा स्टेडियम में कचरा डालकर फिर से वहां की साफ-सफाई के नाम पर भ्रष्टाचार करने, नगर परिषद आयुक्त द्बारा नगर पालिका अधिनियम का उल्लंघन करने, निर्माण कार्यों में गुणवत्ता का ध्यान नहीं रखकर अपने चहेते ठेकेदारों से काम करवाने सहित पेट्रोल-डीजल, अतिक्रमण व कृषि भूमि पर कट रही अवैध कॉलोनियों के मामलों में किए जा रहे कथित भ्रष्टाचार की बात भी कही गई है।
  • प्रदर्शन में ये रहे शामिल
  • नगर परिषद के पूर्व सभापति सदाकत अली, कांग्रेस कमेटी के महामंत्री सत्येश शर्मा, पीसीसी सदस्य नवेद केसर, परिषद की उपसभापति डॉ. हिना अगवान, सेवादल के पूर्व मुख्य संगठक गोपाल दाधीच, एनएसयूआई के प्रदेश सचिव यासीन कुरैशी, मनीष मेवाड़ा, अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के पूर्व प्रदेश संयोजक लियाकत अली लिक्कू, पार्षद लोकेश ठाकुर, रुखसाना, शमीम बानो, अजहरूद्दीन, नीलोफर, पंचायत समिति सदस्य प्रेमशंकर बैरवा, पूर्व सरपंच संजय पुरी, एडवोकेट धनराज मालव, रामहेत धाबाई, मुकेश गुर्जर, मोइनुद्दीन, अशफाक अंसारी, सलीम, सलाम, गफ्फार भाई, हाजी रफीक आदि इस प्रदर्शन मेंं शामिल रहे। प्रदर्शन के दौरान वार्ड नं. 34 के पार्षद मोहम्मद रऊफ ने जिला कलक्टर को अपनी वार्ड की समस्याओं का भी अलग से ज्ञापन दिया। इस ज्ञापन में वार्ड की सफाई व्यवस्था में सुधार करने सहित पेयजल समस्या के समाधान के लिए पानी की टंकी के निर्माण की मांग की गई है।
  • कर्मचारियों ने भी मोर्चा खोला
  • नगर परिषद के कर्मचारियों ने भी आयुक्त की कथित तानाशाही प्रवृति के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए दोपहर को रानी जी की बावड़ी पर बैठक आयोजित की। इसके बाद नगर परिषद कर्मचारी फेडरेशन की ओर से नगर परिषद के सभापति महावीर मोदी व आयुक्त पंकज मंगल को छह सूत्री नोटिस दिया गया। इसमें कर्मचारियों ने सात दिन के अंदर आयुक्त को अपनी कार्यशैली में सुधार करने की चेतावनी दी गई है। इस अवधि में कार्यशैली में सुधार नहीं करने पर पेन डाउन हड़ताल करने की चेतावनी दी है। इन कर्मचारियों में फेडरेशन के अध्यक्ष आशीष , सुनील कुमार, अय्याज अली, मुकेश परमार, राजेन्द्ग नाथावत, नरेन्द्ग नाथावत, रफीक मोहम्मद, भगवान वर्मा, रामदत्त शर्मा, प्रमोद शर्मा, महावीर शर्मा, कैलाश खत्री, अल्लानूर, शीतल कुमार, विजय कुमार, रौनक वशिष्ठ, ओम शर्मा, फारूख, देवीशंकर वर्मा, रामेश्वर शर्मा, विनोद कुमार आदि शामिल थे।
  • आयुक्त की जिलेभर के अधिकारियों के सामने हुर्इ किरकिरी
  • जिस समय कांग्रेसी कार्यकर्ता जिला कलक्टर ठकराल को ज्ञापन देने उनके कक्ष में गए तो वहां जिला कलक्टर जिले के अधिकारियों की साप्ताहिक समीक्षा बैठक ले रहे थे। इन अधिकारियों में आयुक्त मंगल भी मौजूद थे। नगर परिषद के पूर्व सभापति सदाकत अली ने इन सबके सामने कलक्टर ठकराल से आयुक्त के लिए कह डाला कि साहब आपने इतने भ्रष्ट अधिकारी को यहां क्यों बैठा रखा है। साथ ही उन्होंंने नगर परिषद में व्याप्त कथित भ्रष्टाचारों का जिक्र किया तो मंगल बगले झांकने लगे।
  • यह कहा आयुक्त ने
  • अपने ऊपर लगे आरोपों को लेकर दिनभर चले इस घटनाक्रम के बारे में नगर परिषद आयुक्त मंगल ने न्यूज चक्र से कहा कि ”मैं मेरी जगह पूरी तरह सही हूं। आज सरकार ने मुझे यहां लगा रखा है, आगे जहां कहेगी वहां चला जाऊंगा’’
    बूंदी। नगर परिषद आयुक्त पंकज मंगल के खिलाफ रानी जी की बावड़ी पर बैठक करते कर्मचारी।
    बूंदी। नगर परिषद आयुक्त पंकज मंगल के खिलाफ रानी जी की बावड़ी पर बैठक करते कर्मचारी।