शराब बनाने की भट्टियां मिलीं, हजारों लीटर वॉश नष्ट

कोटा व बूंदी आबकारी विभाग की संयुक्त रूप से बड़ी कार्रवाई

0
881
बूंदी। अवैध शराब के खिलाफ की गई कार्रवाई में वॉश नष्ट करते आबकारी विभाग के जवान।

न्यूज चक्र @ बूंदी
आबकारी विभाग ने अवैध शराब रखने व बनाने वालों के खिलाफ अपने विशेष अभियान को जारी रखते हुए रविवार को भी इस पेशे के लिए कुख्यात रामनगर तथा दबलाना क्षेत्र के शंकरपुरा कंजर कॉलोनी में कार्रवाई की। इनमें कुल 209 हथकड़ शराब की बोतलें व 7 भट्टियां जप्त कर 7 हजार 280 लीटर वॉश नष्ट की। आबकारी विभाग ने 21 व पुलिस ने 6 केस दर्ज किए। इस विश्ोष कार्रवाई को बूंदी व कोटा केे आबकारी दल ने संयुक्त रूप से पुलिस की सहायता से अंजाम दिया। नेतृत्व बूंदी जिला आबकारी अधिकारी शिवसिंह ने किया। कोटा जिला आबकारी अधिकारी निरोधकर दल रामलाल मीणा भी इसमें शामिल रहे।
पहली कार्रवाई रामनगर कंजर कॉलोनी मेंं की गई। यहां 132 बोतल हथकड़ शराब व 4 चालू भट्टियां ज’ कर 3 हजार 680 लीटर वॉश नष्ट की गई। आबकारी विभाग ने 13 व सदर थाना पुलिस ने 4 केस दर्ज किए। यहां कार्रवाई में बूंदी आवकारी निरीक्षक डॉ. परमानंद पाटीदार व मनीषा पुरोहित के अलावा बूंदी डीएसपी समंदर सिंह व सदर थानाधिकारी अनीस अहमद भी शामिल रहे।
दबलाना की शंकरपुरा कंजर कॉलोनी में की गई कार्रवाई में 77 बोतल हथकड़ शराब व 3 चालू भट्टियां जप्त कर 3 हजार 600 लीटर वॉश नष्ट की। यहां आबकारी विभाग ने 8 व दबलान पुलिस ने 2 केस दर्ज किए। यहां भी अन्य आबकारी अधिकारियों के अलावा दबलाना थानाधिकारी संजय रॉयल भी शामिल रहे।
आबकारी विभाग के अनुसार 31 जुलाई तक प्रस्तावित इस विशेष अभियान के तहत पूर्व में भी 1 जून से 23 जुलाई तक 639 कार्रवाइयां कीं। कुल 116 केस दर्ज कर 71 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। 254 लीटर देशी शराब, 936 बोतल भारत निर्मित विदेशी मदिरा, 42 बोतल बीयर व 890 बोतल हथकड़ शराब ज’ की। 9 चालू भट्टियां जप्त कर 10 हजार 200 लीटर वॉट नष्ट की गई। विशेष श्रेणी के 15 अभियोग भी दर्ज किए गए।

बूंदी। अवैध शराब के खिलाफ की गई कार्रवाई में शामिल आबकारी व पुलिस के जवान व अधिकारी।
बूंदी। अवैध शराब के खिलाफ की गई कार्रवाई में शामिल आबकारी व पुलिस के जवान व अधिकारी।

 

बूंदी। अवैध शराब के खिलाफ की गई कार्रवाई में वॉश नष्ट करतीं आबकारी निरीक्षक मनीषा राजपुरोहित।
बूंदी। अवैध शराब के खिलाफ की गई कार्रवाई में वॉश नष्ट करतीं आबकारी निरीक्षक मनीषा राजपुरोहित।