खुशहाली व भाईचारे की कामना से खुदा की बारगाह में एक साथ झुके सिर

जिलेभर में पूर्ण हर्ष और उल्लास से मना ईदुल-फितर त्योहार

0
691
बूंदी। नवल सागर ईदगाह पर नमाज अदायगी के बाद शहर काजी अब्दुल शकूर कादरी के साथ विधायक अशोक डोगरा, सभापति महावीर मोदी, जिला कलक्टर नरेश कुमार ठकराल, एसपी सुनील कुमार विश्नोई आदि।

न्यूज चक्र @ बूंदी
खुदा की बारगाह में एक साथ झुके हुए सिर। दुआ के लिए उठते हाथ। मुल्क में अमन-चैन और तरक्की के साथ भाईचारा कायम रहने की मांगी जा रही दुआएं। गुरुवार सुबह जिलेभर की इबादतगाहों में ईदुल-फितर की नमाज की अदायगी के दौरान ऐसा ही नजारा रहा। मुस्लिम मोहल्लों में इस अवसर पर सुबह से ही खासी चहल-पहल रही। हर तरफ पूरी तरह शांति व सौहार्द के साथ उल्लास से भाईचारे का यह त्योहार मनाया गया। कहीं भी कोई अप्रिय वारदात नहीं हुई। शांति व व्यवस्था बनाए रखने के लिए हर जगह पुलिस का खासा बंदोबस्त रहा।
जिला मुख्यालय पर इस अवसर पर मुख्यतया दो स्थानों पर नमाज अदा की गई। नवल सागर स्थित ईदगाह पर दस बजे शहर काजी अब्दुल शकूर कादरी ने नमाज अदा करवाई। इसके पूर्व मीरा का बाग में साढ़े नौ बजे से मौलाना निजामुद्दीन ने इस रस्म की अदायगी की। दोनों स्थानों पर अधिकारियों सहित बड़ी संख्या में राजनीतिक पार्टियों के नेता, कार्यकर्ता व सामाजिक कार्यकर्ता भी मौजूद रहे। नमाज व तकरीर खत्म होने के बाद गले मिल कर एक दूसरे को मुबारकबाद देने का सिलसिला शुरू हुआ। इस दौरान काफी देर तक जबरदस्त हर्षोउल्लास का वातावरण रहा। नवलसागर र्इदगाह पर विधायक अशोक डोगरा, जिला कलक्टर नरेश कुमार ठकराल, एसपी सुनील कुमार विश्नोई, नगर परिषद के सभापति महावीर मोदी सहित कांग्रेस नेता समृद्ध शर्मा, भाजपा नेता एडवोकेट राजकुमार दाधीच, पेंशू सिंह, कौमी एकता समिति के युद्धराज सोनी आदि भी मौजूद रहे। यहां जिला कलक्टर को साफ बांध कर उनका खैरमकदम भी किया गया। इस दौरान कौमी एकता समिति के सोनी ने कौमी एकता व भाईचारा हमेशा बना रहने की कामना से जमकर नारेबाजी भी की। इसके बाद घरों पर सिवइयां खाने-खिलाने का दौर शुरू हुआ। यह देर शाम तक जारी रहा। इस त्योहार के चलते पूरे शहर में खासी रौनक व चहल-पहल रही।

नैनवां में शहर काजी जुलूस के साथ पहुंचे ईदगाह

नैनवां। इदुल-फितर के मौके पर सुबह 9.45 बजे इदगाह पर सामूहिक रूप से ईद की नमाज अदा की गई। साथ ही देश में अमन ,चैन व खुशहाली की दुआ की गई। नमाज के बाद सभी ने एक दूसरे को गले लगाकर मुबारकबाद दी। इससे पूर्व सुबह आठ बजे इदुल-फितर का जुलूस गढè चौक स्थित हजरत चांद पीर साहब के स्थान से रवाना हुआ। यह सदर बाजार, मालदेव चौक ,दपोला व टोडापोल होता हुआ ईदगाह पर पहुुंचा । जुलूस में शहर काजी अब्दुल नईम अंसारी घोड़े पर सवार थे। यहां उन्होंने नमाज अदा कराई। इसके बाद जुलूस वापस टोडापोल होता हुआ शहर काजी के निवास पर पहुंचा। वहां तबरूक तकसीम की गई।

 

बूंदी। नवल सागर ईदगाह पर नमाज अदा करते मुस्लिम समाज के लोग।
बूंदी। नवल सागर ईदगाह पर नमाज अदा करते मुस्लिम समाज के लोग।
 बूंदी। मीरा का बाग में नमाज अदा करते मुस्लिम समाज के लोग।

बूंदी। मीरा का बाग में नमाज अदा करते मुस्लिम समाज के लोग।
बूंदी। मीरा का बाग में नमाज खत्म होने के बाद गले मिलते मौलाना निजामुद्दीन।
बूंदी। मीरा का बाग में नमाज खत्म होने के बाद गले मिलते मौलाना निजामुद्दीन।
नैनवां। नमाज अदायगी के लिए जुलूस के रूप में ईदगाह जाते शहर काजी।
नैनवां। नमाज अदायगी के लिए जुलूस के रूप में ईदगाह जाते शहर काजी।