रुपेश मुख्यमंत्री को बताएंगे 11 गांवों की मंशा, देंगे ग्रामीणों के हस्ताक्षरों वाला ज्ञापन

0
649
बूंदी। सीन्ता पंचायत के मेहराना गांव में ग्रामीणों से हस्ताक्षरशुदा ज्ञापन लेते हुए भाजपा नेता रूपेश शर्मा ।

न्यूज चक्र @ बूंदी
भाजपा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य रुपेश शर्मा कोटा यूआईटी में शामिल किए गए तालेड़ा तहसील के 11 गांवों के आदेश को निरस्त करने सहित अन्य अहम मांगों को लेकर  शनिवार को कोटा में मुख्यमंत्री वसुंधराराजे से मुलाकात करेंगे। साथ ही वे 11 गांवों के संबंध में ग्रामीणों के हस्ताक्षरशुदा ज्ञापन भी मुख्यमंत्री को सौपेंगे। शर्मा इसके लिए लगातार इन गांवों में ग्रामीणों से सम्पर्क कर उनकी बैठक ले रहे हैं।
अपने इसी अभियान के क्रम में शर्मा ने गुरुवार शाम सीन्ता पंचायत के मेहराना गांव में ग्रामीणों की बैठक ली। उन्होंने बताया कि वे जिले के लोगों की भावना के अनुसार, इसके वजूद व हक को कायम रखे जाने के उद्देश्य से कोटा मास्टर प्लान 2031 (प्रारूप) में बूंदी जिले के 11 राजस्व गांवों को शामिल किए जाने के विरोध में हैं। शर्मा का कहना है कि वे इस मुद्दे को लेकर लगातार संबंधित गांवों में जनसम्पर्क कर ग्रामीणों से मुख्यमंत्री को दिए जाने वाले ज्ञापन पर हस्ताक्षर करवा रहे हैं। इस अभियान में ग्रामीण भी उनके गांवों को कोटा यूआईटी में शामिल किए जाने के फैसले से आक्रोशित नजर आ रहे हैं। वे मुख्यमंत्री को इसी जनभावना से अवगत कराना चाह रहे हैं। इसी के साथ वे उनसे गरड़दा बांध के शीघ्र पुनर्निर्माण के साथ एनजीटी के आदेश से बरड़ क्षेत्र की बंद पड़ी खानों के मामले पर भी कोई प्रभावी रास्ता निकाल हजारों लोगों को राहत देने की मांग भी रख्ोंगे। इन खानों के संचालित रहने से ही बूंदी जिले सहित कोटा का अर्थतंत्र भी प्रभावित होता है|