नैनवां: एनएसयूआई ने कॉलेज पर जड़ा ताला, सरकारी दर्जा देने की मांग

0
1040
बूंदी। नैनवां में कॉलेज के गेट पर ताला लगाने के साथ प्रदर्शन करते एनएसयूआई के पदाधिकारी व कार्यकर्ता।

न्यूज चक्र @ बूंदी
जिले के नैनवां में संचालित भगवान आदिनाथ जय राज मारवाड़ा कॉलेज को सरकारी दर्जा देने के साथ फीस को आधी करने की मांग को लेकर बुधवार को एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने कॉलेज के गेट पर ताला जड़ दिया। साथ ही यहां मांगों को लेकर धरना देने के साथ जमकर नारेबाज की। बाद में प्राचार्या से वार्ता होने के बाद छात्रों ने ताला खोला। यह कॉलेज वर्तमान में स्वायत्तशासी है।
एनएसयूआई के जिला महासचिव नबील अंसारी ,पार्षद हेमराज गुर्जर ,छात्र संघ उपाध्यक्ष श्रवण गुर्जर ,सचिव लक्की जैन ,एनएसयूआई के ब्लॉक अध्यक्ष अमृत राज मीणा ,महासचिव जावेद साजिद ,विनोद नागर ,सितेन्द्र ,आशु मंगल, मध्यराम मीणा ,राजेन्द्र मीणा आदि ने दिन के करीब सवा ग्यारह बजे अपनी मांगों को लेकर कॉलेज के चैनल गेट पर ताला लगा दिया। यहां एनएसयूआई के जिला महासचिव नबील अंसारी ने कहा कि कॉलेज को सरकारी दर्जा प्रदान करने के साथ वर्तमान फीस 6500 -7000 हजार रुपए को आधा किया जाए। कॉलेज में अधिकतर ग्रामीण छात्र अध्यनरत हैं। इनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। मांगें नहीं मानी जाने पर एनएसयूआई उग्र आंदोलन करेगी। इसकी जिम्मेदारी कॉलेज प्रशासन की होगी। इसके बाद दोपहर डेढ़ बजे कॉलेज के प्राचार्य के कॉलेज समिति की बैठक लेने के बाद ही फीस जमा करने का आश्वासन देने के बाद एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने कॉलेज का ताला खोला।
इस संबंध में प्राचार्य पंकज गुप्ता ने बताया कि कॉलेज समिति ने 6100 रुपए फीस तय कर रखी है। कॉलेज का वार्षिक खर्च 60 लाख रुपए है। इसकी आय का जरिया छात्रों से ली जाने वाली फीस ही है।

विधार्थी परिषद ने की आवेदन तिथि बढ़ाने की मांग

दूसरी ओर कॉलेज छात्र संघ अध्यक्ष दिलखुश पोटर, विद्यार्थी परिषद के तहसील प्रमुख शेखर व्यास व सहसंयोजक भंवर लाल सैनी के नेतृत्व में छात्रों ने एसडीएम को ज्ञापन देकर प्रथम वर्ष कला संकाय में प्रवेश के लिए आवेदन की अंतिम तिथि बढ़ाने की मांग की। बुधवार को ही इसकी अंतिम तिथि थी।