डॉक्टर बनूंगी, लेकिन सेवा के लिए, लूटने के लिए नहीं

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की 12 वीं विज्ञान परीक्षा में राजस्थान टॉपर रहीं नियति सक्सेना की है यह मंशा

1
1744
बूंदी। माता-पिता व बहनों के साथ 12 वीं साइंस में राजस्थान टॉपर नियति सक्सेना।

न्यूज चक्र @ बूंदी

मैं तो डॉक्टर ही बनना चाहती हूं। मगर आजकल के डॉक्टर्स से अलग। मैं लूटने की जगह उनकी सेवा करूंगी। उन्हें तड़फता छोड़ने की जगह बचाने के लिए रात-दिन एक कर दूंगी। यह कहना है राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की 12 विज्ञान परीक्षा में 97. 60 प्रतिशत अंकों के साथ राजस्थान टॉपर रहीं नियति सक्सेना का। उनसे सवाल पूछा गया था कि इतनी बड़ी उपलब्धि के बावजूद डॉक्टर ही क्यों बनना चाहती हो। इस पर उनका यह जवाब था। उनके इस परिणाम से पूरे घर में खासी खुशी का माहौल है। नियति सहित माता-पिता का भी कहना है कि यह उम्मीद तो थी कि काफी अच्छे नम्बर आएंगे। मगर ऐसे परिणाम के बारे में नहीं सोचा था। नियति का पूरा परिवार उच्च शिक्षित है। यहां खास बात यह भी है कि उन्होंने अंग्रेजी विषय के अलावा अन्य किसी विषय की कोचिंग नहीं ली।
नियति के पिता अशोक सक्सेना बूंदी पोस्ट ऑफिस में पोस्टल असिस्टेंट हैं। वहीं माता रंजना एमए (हिन्दी) हैं। कुल तीन बहनों व एक भाई के बीच नियति तीसरे नम्बर की बहन हैं। सबसे बड़ी बहन अंशुल एमएससी (गणित) करने के बाद राजस्थान प्रशासनिक सेवा (आरएएस) की तैयारी कर रही हैं। उनसे छोटी आस्था बीएससी(गणित) कर चुकी है। अंशुल ने एमएससी में कॉलेज टॉप किया था। वहीं आस्था 12 वीं में जिले में छठे स्थान पर रही थी। नियति खुद दसवीं में जिले की मेरिट में आई थी।
ड्रॉइंग में भी किया राजस्थान टॉप
नियति ने पढ़ाई से अलग ड्रॉइंग व डांस में अपनी रुचि बताई। हाल ही में एक समाचार पत्र संस्थान की ओर से राज्यभर में कराए गए ड्रॉइंग कॉम्पीटिशन में भी उन्होंने राजस्थान टॉप किया है।

घर में पूरे साल टीवी बंद रहा, माता-पिता ने भी नहीं देखा

नियति ने बताया कि सुबह उठते ही पढ़ाई शुरू कर देती थी। रात 12-1 बजे तक सात-आठ घंटे रोज पढ़ती थी। कोचिंग केवल अंग्रेजी विषय की ही ली। बाकी वे अच्छी पढ़ाई का श्रेय उनके आरएनटी सीनियर सैकंडरी स्कूल को देती हैं। माता-पिता की प्रेरणा व सहयोग के अलावा वह केमिस्ट्री टीचर आरिफ, फिजिक्स टीचर प्रवीण व बायो टीचर साहिल को उनकी सफलता का श्रेय देती हैं।

कायस्थ महासभा के प्रदेश अध्यक्ष करेंगे सम्मानित

अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के राजस्थान प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप माथुर  मंगलवार को सुबह साढ़े आठ बजे कोटा से नियति के घर बूंदी आएंगे। वे उन्हें मोमेंटों व चैक देकर सम्मानित करेंगे। मीडिया प्रभारी संतोष श्रीवास्तव ने यह जानकारी दी |