नैनवां: सत्रह दिन से लापता महिला का जंगल में क्षत-विक्षत शव मिला

61
3235
बूंदी। नैनवां में बीहड़ के खाल मंे महिला का क्षत-विक्षत शव मिलने पर मौके पर कार्रवाई करते पुलिसकर्मी।

न्यूज चक्र @ बूंदी
नैनवां थाना क्षेत्र के बीहड़ के खाल में शनिवार सुबह एक महिला का बुरी तरह क्षत-विक्षत शव मिला। सूचना मिलने पर सीआई रामानन्द यादव व डीएसपी सोहनराम विश्नोई मौके पर पहुंचे व आवश्यक कार्रवाई कर मौके पर बिखरी पड़ीं हड्डियों को पोस्टमार्टम के लिए नैनवां अस्पताल पहुंचाया। मृतक की पहचान देई थाना क्षेत्र के देवरिया गांव निवासी के रूप में हुई। वह 26 अप्रेल से लापता थी।
पुलिस ने बताया कि देवरिया गांव का कालूलाल मीणा व उसकी पत्नी मिसरी बाई जयपुर में रहकर मजदूरी करते थे। 24 अप्रेल को कालूलाल ने अपनी पत्नी को नौ हजार रुपए देकर गांव भेजा था। इसके बाद वह वापस जयपुर जाने के लिए 26 अप्रेल को अपराह्न् तीन बजे करीब देई आई। चार बजे कालूलाल व उसकी मोबाइल पर बात हुई। इसी के बाद से उसका मोबाइल बंद आ रहा था। तब से परिजन उसकी तलाश में लगे हुए थे। शुक्रवार को ही उसके देवर मोहन लाल ने देई थाने में उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दी थी। सुबह बीहड़ के खाल में बकरियां चराने गए कुछ ग्रामीण बच्चों ने शव व आसपास बिखरी हुई हड्डियां देखीं तो वे बुरी तरह डर गए। उन्होंने पास ही में स्थित वन विभाग की चौकी पर यह सूचना दी। वहीं से पुलिस को जानकारी दी गई। शव मिलने की सूचना पर देई थाना सीआई रतन लाल मिसरी बाई के पति व देवर को लेकर मौके पर पहुंचे। वहां मिले कपड़ों, चप्पल व अन्य सामानों से इन्होंने तुरंत शव की पहचान कर ली। शव को जंगली जानवरों ने बुरी तरह नोंच रखा था। आसपास हड्डियां बिखरी हुईं थीं। देवर मोहन लाल की ओर से इस मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ देई थाने में हत्या का मामला दर्ज कराया गया है।