निरंकारी सम्प्रदाय के प्रमुख बाबा हरदेव सिंह का निधन

कनाड़ा में कार हादसे का हुए शिकार

3
571

मॉन्ट्रियल (कनाडा)

निरंकारी सम्प्रदाय के प्रमुख बाबा हरदेव सिंह का शुक्रवार को कनाड़ा के मॉन्ट्रियल शहर में सड़क हादसे में निधन हो गया। निरंकारी बाबा की 27 देशों में 100 शाखाएं चल रही हैं। उनके अनुयायी न सिर्फ भारत में बल्कि विदेशों में भी बड़ी संख्या में हैं। वे संत निरंकारी मिशन के प्रमुख थे। इस हादसे का पता चलते ही उनके अनुयायियों में शोक की लहर फ़ैल गई ।

बाबा का जन्म दिल्ली में 1954 में हुआ था। उन्हें बाबा भोला के नाम से भी जाना जाता था। जल्दी ही दिल्ली में उनका एक बड़ा कार्यक्रम होने वाला था|

बाबा हरदेव सिंह का पूरा परिचय

– बाबा हरदेव सिंह का जन्म 23 फरवरी, 1954 को दिल्ली में हुआ था।
– उनकी शुरुआती पढ़ाई घर पर ही हुई, बाद में उन्होंने दिल्ली के संत निरंकारी कॉलोनी में रोसरी स्कूल और फिर पटियाला के एक बोर्डिंग स्कूल से पढ़ाई की।
– 1971 में उन्होंने निरंकारी सेवा दल ज्वॉइन किया।
– 1975 में उन्होंने फर्रुखाबाद की सविंदर कौर से शादी की थी। सविंदर दिल्ली में निरंकारी संत समागम की मेम्बर थीं।
– 1980 में पिता की हत्या के बाद वे संत निरंकारी मिशन के मुखिया बन गए।
– सन्1929 में संत निरंकारी मिशन की स्थापना हुई थी।