शादी रुकवाने नाबालिग लड़की को थाने लेकर पहुंचे मामा और भाई

6
357

न्यूज चक्र @ बूंदी
जिले के नैनवां थाने में सोमवार सुबह अलग ही मामला सामने आया। दो व्यक्ति एक नाबालिग लड़की को साथ लिए पहुंचे। इनमें से एक ने खुद को लड़की का मामा और दूसरे ने ताऊ का लड़का बताते हुए गुहार की कि आज ही समाज के सामूहिक विवाह सम्मेलन में इसकी शादी होने जा रही है। इसका पिता नहीं मान रहा। आप इस शादी को रुकवाओ। पुलिस तुरंत हरकत में आई। लड़की के पिता के साथ लड़के के पिता को भी बुला भ्ोजा। मामला दर्ज कर तहसीलदार के समक्ष पेश किया। जहां से दोनों को यह शादी नहीं करने के लिए पाबंद कर छोड़ दिया।
पुलिस ने बताया कि देई थाना क्ष्ोत्र के मोड़सा गांव निवासी चौथमल मीणा की 12 वर्षीय पुत्री पूजा की सोमवार को ही लीलदा गांव में हो रहे समाज के विवाह सम्मेलन में शादी होनी थी। चौथमल को रिश्तेदारों ने पुत्री के नाबालिग होने के चलते यह शादी नहीं करने के लिए काफी समझाया था। मगर वह नहीं माना। इस पर पूजा का बालापुरा निवासी मामा रामदेव व मोरसा निवासी ताऊ का लड़का हरजी उसे नैनवां थाने में ले आया। इन्होंंने पूरी बात बताते हुए पूजा की शादी रुकवाने के लिए परिवाद पेश किया। यह शादी नैनवां थाना क्ष्ोत्र के बड़ी पड़ाप निवासी मीणा के लड़के से हो रही थी। इस पर पुलिस ने तुरंत लड़की के पिता चौथमल व लड़के के पिता श्योराज को बुला भ्ोजा। इनके खिलाफ पेश परिवाद पर बाल विवाह अधिनियम की धारा 12 में मामला दर्ज कर तहसीलदार के समक्ष पेश किया। जहां से दोनों को यह शादी नहीं करने के लिए पाबंद कर छोड़ दिया गया। साथ ही पूजा को उसके पिता के सुपुर्द कर दिया।