निकाह कबूल कर 114 जोड़े बने हमसफर

12 वां मंसूरियान इज्तेमाई निकाह सम्मेलन आयोजित

3
965
कोटा। दुल्हनों के साथ सेल्फी लेतीं उनकी रिश्तेदार।
कोटा। आयोजन को संबोधित करतीं विधायक चन्द्रकांता मेघवाल।
कोटा। आयोजन को संबोधित करतीं विधायक चन्द्रकांता मेघवाल।
कोटा। विधायक प्रहलाद गुंजल को स्मृति चिह्न् भ्ोंट करते सम्मेलन के आयोजक।
कोटा। विधायक प्रहलाद गुंजल को स्मृति चिह्न्  भेंट करते सम्मेलन के आयोजक।

न्यूज चक्र @ कोटा

जमीयतुल मंसूरियान कमेटी की ओर से रविवार को दशहरा मैदान में 12 वां इज्तेमाई निकाह सम्मेलन आयोजित किया गया। इसमें शहर काजी अनवार अहमद की सरपरस्ती में 114 जोड़ों का निकाह कबूल हुआ। उनके साथ आए 27 काजियों ने प्रत्येक के दो गवाह और एक वकील की उपस्थिति में निकाह पढ़ाया। वर व वधु पक्ष की ओर से शादी की रजामंदी देते ही हर्ष का वातावरण व्या’ हो गया। सभी एक-दूसरे को मुबारकबाद देने लगे।

इस सम्मेलन में शिरकत करने के लिए राज्य के अलावा मध्य प्रदेश व उत्तर प्रदेश तक से लोग आए थे। इनमें खण्डवा, श्योपुर, अशोक नगर, भीलवाड़ा, करौली, टोंक, सवाई माधोपुर, चित्तौड़गढ़, उदयपुर, रतलाम, बांसवाड़ा, प्रतापगढ़, टोंक, निवाई, देवली, करौली आदि स्थान शामिल हैं।
विधायक प्रहलाद गुंजल, चन्द्रकांता मेघवाल, पूर्व मंत्री शांति धारीवाल, नगर विकास न्यास के पूर्व चैयरमेन रविन्द्र त्यागी, जयपुर के पूर्व विधायक गुल मोहम्मद, मजीद मलिक कमाण्डो, व्यापार महासंघ के अशोक माहेश्वरी, शहर महामंत्री सरफराज अहमद, मुफ्ती शमीम अशरफ, फिरोज पठान, आबिद कागजी, साहिल मिर्जा, मंजूर तंवर, पार्षद  मोहम्मद हुसैन, रफीक पठान, बादशाह खान, हिम्मत सिह हाड़ा, रचना राठौर आदि ने सम्मेलन में पहुंचकर दूल्हा-दुल्हन के उज्ज्वल भविष्य की कामना की।

सम्मेलन में अल मंसूरी इस्लामिक ट्रस्ट मुरैना के सदर महबूबर्रहमान मंसूरी, नायब सदर शामली ट्रस्ट मुफ्ती मतुलबुर्रहमान कासमी मंसूरी, सदस्य काजी समीउर्रहमान मंसूरी, मौलाना मोहम्मद रिजवान मंसूरी, मौलाना शकीलुर्रहमान, चौधरी अनवर, हाफिज अनीस मंसूरी, मंसूरी पंचायत के सदर हाजी लतीफ आदि भी मौजूद थे।

इस्लाम जिन्दगी गुजारने का तरीका

इस मौके पर तकरीर करते हुए शहर काजी अनवार अहमद ने कहा कि इस्लाम जिन्दगी को गुजारने का एक तरीका है। यह देश और समाज में रहने के तरीके को बतलाता है। अल्लाह के रसूल के मुताबिक जिन्दगी गुजारने से ही जन्नत नसीब होगी। हमें मौमीन की हैसियत से मौत आए तो ही सच्ची मौत होगी। पूरी कायनात को बनाने वाला और चलाने वाला एक ही है। वही एक दिन हमसे सारा हिसाब लेगा। उससे डरने की जरूरत है। यही डर एक दिन तुम्हारे लिए सिपाही का काम करेगा।
सारी व्यवस्थाएं थीं माकूल
भीषण गर्मी को देखते हुए आयोजन समिति की ओर से शरबत की सबीलें लगाई गईं थीं। इन पर गला तर करने के लिए लोगों की खासी भीड़ रही। वहीं मेडिकल स्टॉल भी लगाई गई। पीने के पानी के लिए 3 हजार कैम्पर की व्यवस्थाा की गई थी। ठंडी हवा के लिए 40 बड़े कूलर लगे थे। 200 गुणा 150 व 200 गुणा 200 के दो बड़े पाण्डाल तैयार कराए गए थे। जोड़ों को ठहराने के लिए 15 गुणा 15 के पाण्डाल बनाए गए। इस मौके पर शादी में डीजे नहीं बजाने को लेकर भी सभी से शपथ पत्र भराए गए।
प्रत्येक जोड़े को दिए 34 प्रकार के सामान
सदर इश्हाक मोहम्मद मंसूरी ने बताया कि कमेटी की ओर से प्रत्येक जोड़े को मोटर साइकिल, एलईडी टीवी, कूलर, वाशिग मशीन, अलमारी, फ्रिज, दीवान, मिक्सी, चांदी की पायल, बिछिया, सोने की लोंग सहित 34 प्रकार के सामान भेंट किए गए हैं। वहीं वर वधु पक्ष की ओर से भी खील बताशे बांटे गए। संरक्षक मोहम्मद युसुफ मंसूरी, सिराज अहमद मंसूरी, अब्दुल सलाम मंसूरी आदि भी सम्मेलन में मौजूद रहे। first

कोटा। आयोजन को संबोधित करते पूर्व मंत्री शांति धारीवाल।
कोटा। आयोजन को संबोधित करते पूर्व मंत्री शांति धारीवाल।

 

कोटा। रामगंजमंडी विधायक चन्द्रकांता मेघवाल ने भी दुल्हन के साथ सेल्फी ली।
कोटा। रामगंजमंडी विधायक चन्द्रकांता मेघवाल ने भी दुल्हन के साथ सेल्फी ली।
कोटा। मंच पर मौजूद शहर काजी अनवार अहमद सहित अन्य काजी व समाज के गणमान्य लोग।
कोटा। मंच पर मौजूद शहर काजी अनवार अहमद सहित अन्य काजी व समाज के गणमान्य लोग।