और अब मनोज बाजपेयी को दादा साहब फाल्के पुरस्कार

4
544

 

न्यूज चक्र  @ सेन्ट्रल डेस्क

रामगोपाल वर्मा की ‘सत्या’ में भीखू म्हात्रे के चरित्र से प्रसिद्ध हुए अभिनेता मनोज बाजपेयी को इस वर्ष प्रदर्शित हुई निर्देशक हंसल मेहता की फिल्म ”अलीगढ़” में उनके दमदार अभिनय के लिए दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। उन्हें हंसल मेहता की फिल्म ”अलीगढ़” के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता (क्रिटिक्स च्वॉइस) की श्रेणी में यह अवॉर्ड मिलेगा।

नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से प्रशिक्षित मनोज बाजपेयी को दमदार अभिनय के बावजूद फिल्म उद्योग ने हमेशा कम करके आंका है। उन्हें फिल्में मिलीं, लेकिन बड़े निर्देशक और बड़े बैनर उनसे हमेशा दूर रहे। मनोज को जब कभी अवसर मिला, उन्होंने अपने अभिनय की गहरी छाप दर्शकों और आलोचक पर छोड़ी। ‘सत्या’ की सफलता में जहां राम गोपाल वर्मा का प्रस्तुतिकरण और निर्देशन बेजोड़ था, वहीं भीखू म्हात्रे के किरदार में मनोज का अभिनय लाजवाब था। ‘सत्या’ के लिए मनोज बाजपेयी को राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार और फिल्म फेयर पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।manoj vajpai