भीषण गर्मी: चिकित्सा विभाग ने जारी किया अलर्ट

3
365

न्यूज चक्र @ बूंदी
तेज गर्मी को देखते हुए चिकित्सा विभाग ने जिले के सभी चिकित्सा प्रभारियों को आवश्यक निर्देश जारी किए गए हैं।
सीएमएचओ डॉ. सुरेश जैन ने बताया कि अस्पताल में प्रसव पूर्व, प्रसव के बाद वार्ड तथा प्रसव कक्ष में थर्मामीटर लगाए जाएं। इनमें सामान्य 15-18 डिग्री सेन्टीग्रेड तापमान रखा जाए। कूलर, पंखे व वेंटिलेशन की उपयुक्त व्यवस्था हो। चिकित्सा अधिकारी अस्पताल में सुबह 8 से 8.30 बजे के बीच भर्ती मरीजों का निरीक्षण कर जननी सुरक्षा का चैक आवश्यक रूप से 9 बजे प्रसूताओं को दिया जाना सुनिश्चित करें। सुबह 9 से 10 बजे के बीच प्रसूताओं को उनके निवास स्थान पर छुड़वाया जाए। लू-तापघात से होने वाली मौत पर मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाया जाए। जिला औषधि भण्डार से लू-तापघात के उपचार के लिए आवश्यक दवाइयां व ओआरएस पर्याप्त मात्रा में चिकित्सा संस्थानों पर रखें तथा पीने के पानी की टंकियों की सफाई कराई जाए। नरेगा में काम करने वाले मजदूरों के लिए दवाइयां उपलब्ध कराने के लिए चिकित्सा अधिकारियों को पाबंद किया जाए।

लू से बचाव के उपाय

लू- तापघात से बचाव ही उपचार है। इसके लिए तेज धूप में निकलने से बचें। आवश्यक हो तो पूरे वस्त्र पहनकर ही घर से निकलें। घर से बाहर निकलने से पहले भरपेट पानी पिएं। लू-तापघात से प्रभावित रोगी को तुरंत छायादार स्थल पर लिटा दें। रोगी की त्वचा को गीले कपड़े से स्पंज करते रहे तथा रोगी के कपड़ों को ढीला कर दें। वह होश में हो तो उसे ठण्डे पेय पदार्थ दें।