मां भगवती के जागरण में ली बुराइयों को छोड़ सद्कार्य करने की शपथ

जनचेतना युवा मोर्चा, महानगर कोटा ने किया आयोजन

3
826

न्यूज चक्र @ कोटा

12 वें विशाल मां भगवती के जागरण में शुक्रवार रात बड़ी संख्या में युवाओं ने माता के जयकारों के बीच सामाजिक बुराइयों को छोड़ने की शपथ और जीवन को सद्कार्यों की ओर मोड़ने का संकल्प लेकर इसे अनूठा बना दिया। जनचेतना युवा मोर्चा महानगर कोटा की ओर से आयोजित यह कार्यक्रम देर रात तक जारी रहा। इस दौरान मंच पर पहुंचे सामाजिक और राजनीतिक प्रतिनिधियों ने कुरीतियों को त्यागने के लिए प्रेरक उद्बोधन दिए। छावनी रामचन्द्रपुरा में आयोजित इस मां भगवती जागरण में गायकों ने मनमोहक भजनों की प्रस्तुतियों से भक्तों को बांधे रखा।
मंच से प्रस्तुत किए जा रहे माता दुर्गा और प्रभु श्रीराम के मनमोहक भजनों के बीच माता रानी के जयकारे गूंज रहे थे। इसी के साथ ”गौ हमारी माता है, जनम जनम का नाता है, ”नेत्रदान -महादान, ”स्वच्छ भारत-सुंदर भारत, ”रक्तदान-महाकल्याण, ”पेड़ लगाओ, प्रकृति बचाओ, ”भ्रष्टाचार पाप है जैसे नारे भी गूंजते रहे। मंच से ही कन्या भू्रण हत्या, बाल विवाह, दहेज प्रथा, मृत्युभोज, महिला उत्पीड़न जैसी सामाजिक कुरीतियों को छोड़ने का संकल्प कराया गया। वहीं रक्तदान, नेत्रदान, पर्यावरण संरक्षण, साक्षरता मिशन, स्वच्छ भारत, गौरक्षा जैसे कार्यों को बढ़ावा देने का संकल्प भी कराया।

इस दौरान दिल्ली से आए कलाकारों ने गणेश वंदना से समारोह की शुरुआत कर माता के भजनों की ऐसी रसधार बहाई कि हर कोई भक्ति रस में रंगा नजर आने लगा। ”मात अंग चोला साजे, हर इक रंग चोला साजे…, ”भेजा है बुलावा तूने शेरावालिए…,”तेरा हो रहा जगराता, जैकारा जावे गली-गली…,”माता रानी फल देगी, आज नहीं तो कल देगी…, ”बरसे अमृत धार मैया जी तेरे भवन में…आदि भजन पेश किए। वहीं भगवान के प्रतिरूपों की सुंदर झांकियों के साथ महारास, शिव ताण्डव व काली नृत्य जैसे मनमोहक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए गए।

इस अवसर पर सांसद ओम बिरला मुख्य अतिथि थे। उन्होंने संबोधित करते हुए कहा कि धार्मिक आयोजन के दौरान गलत परम्पराओं और गलत कार्यों पर रोक लगाने का संदेश देना अनूठी और अनुकरणीय पहल है। अपने माता-पिता के प्रति हमारा कर्तव्य ही हमारा धर्म है। धर्मिक मंच से ऐसी सद्प्रवृतियों को अपनाने की प्रेरणा देशभर में महासंदेश के रूप में प्रसारित होगी। विधायक भवानीसिंह राजावत, संदीप शर्मा व प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव शिवकांत नन्दवाना ने भी मंच से कुरीतियों को छोड़ने का संकल्प कराया।
कार्यक्रम में आयोजक संस्था की संरक्षक एवं उपमहापौर सुनीता व्यास, महीप सिंह सोलंकी, हितेन्द्र शर्मा, अध्यक्ष खेमचंद शाक्यवाल, संयोजक मुकेश नागर, सह संयोजक मुकेश मीणा, विमल पांचाल, राजकुमार कलवार, वरिष्ठ उपाध्यक्ष सुरेन्द्र ढावर, नरेन्द्र मेघवाल, कृष्णुरारी गौतम, जगदीश शाक्यवाल, पंकज प्रभाती, राजेन्द्र सिंह, सोनू वर्मा, महासचिव नरेन्द्र प्रजापति, गुलाबसिंह चौहान, चांदमल शाक्यवाल, चन्दन सुमन, योगेन्द्र सिंह, नरहरि शाक्यवाल, राजेन्द्र गोचर, जितेन्द्र शाक्यवाल आदि भी मौजूद थे।

यह शपथ दिलाई गई

आज कोटा वासियों के साथ यह शपथ लेता हूं/लेती हूं कि कन्या भू्रण हत्या, बाल विवाह, दहेज प्रथा, मृत्युभोज, महिला उत्पीड़न जैसी अन्य सामाजिक कुरीतियों को दूर करने का प्रयास करूंगा / करूंगी। रक्तदान, नेत्रदान, पर्यावरण संरक्षण, अमृतम् जलम्, साक्षरता मिशन, स्वच्छ भारत, सुन्दर भारत व राष्ट्रीय एकता को बढ़ावा दूंगा / दूंगी। मेरे देश की संस्कृति व गौ माता की रक्षा करूंगा / करूंगी। समाज में फैल रहे नशे के जहर को दूर करने का प्रयास करूंगा / करूंगी। राष्ट्रध्वज व सैनिकों का सम्मान करूंगा / करूंगी। नारी की रक्षा व सम्मान करूंगा और भारत की एकता व अखण्डता को बनाए रखूंगा / रखूंगी। जय भारत, जय हिन्द।