बूंदी सदर थाने में जंगल राज के आरोप, शरीफ़ों की नहीं बदमाशों की सुन रही पुलिस

1
1260

 

न्यूज चक्र @ बूंदी
सदर थाना पुलिस की अनोखी कार्यशैली सामने आई है। एक परिवार के जो गम्भीर आरोप हैं, उनके अनुसार करीब सालभर से वे अपने गांव के ही कुछ लोगों की खुराफातों की शिकायतें लेकर थाने में जा रहे हैं। पुलिस आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात तो दूर उलटा उन्हेंं ही डरा-धमका व अभद्रता कर वापस भेज देती है। और तो और इस बीच एक रात उनके घर की ही तलाशी ली गई। हद तो तब हो गई जब आरोपी पक्ष के ही संदेह जताने पर उन्हें मंगलवार को थाने में बुला लिया गया। वहां उन पर माटूंदा सरपंच महेन्द्र शर्मा के पुत्र की हत्या करने का आरोप लगाते हुए पूछताछ करने के साथ प्रताड़ित किया गया। यह अलग बात है कि करीब छह घंटे बाद इन्हें छोड़ दिया। इनका यह भी आरोप है कि उनके घर आने वाले रिश्तेदारों को लेकर भी आरोपी इन पर वैश्यावृति का आरोप लगाते रहते हैं।
सोमवार को पहली बार यह परिवार न्यूज चक्र कार्यालय में अपने ही कुछ गांव वालों की कारस्तानी व उस पर पुलिस की लापरवाही की शिकायत दस्तावेजी प्रमाणों के साथ लेकर आया था। मंगलवार को भी ये थाने से छूटकर सीधे कार्यालय आए और जानकारी दी।
यह प्रकरण माटूंदा ग्राम पंचायत के गांधी ग्राम निवासी चुन्नी लाल पुत्र किशन लाल बैरवा के परिवार का है। जो आरोप सामने आए हैं, उसके अनुसार गांव के ही महावीर पुत्र मोडूलाल, भंवर पुत्र सुखलाल व इसका पुत्र मुकेश (सभी बैरवा) चुन्नी लाल की पत्नी व नाबालिग पुत्रियों से लंबे अरसे से छेड़छाड़ व अभद्रता करते आ रहे हैं। ये हैंडपम्प पर पानी भरने भी जाती हैं तो वहां ये लोग इनसे अश्लीलता करते हैं। इनके घर पर आने वाले मेहमानों को लेकर वैश्यावृति करने का आरोप लगाते हैं। उनसे भी अभद्रता करते हैं। इन सब बातों का ये लोग विरोध करते हैं तो बुरी तरह मारपीट की जाती है। सोमवार सुबह भी जब चुन्नी लाल की नाबालिग पुत्री हैंडपम्प पर पानी भरने गर्इ तो भी उससे छेड़छाड़ की गई। इसी के बाद यह परिवार अपनी विपदा सुनाने न्यूज चक्र कार्यालय में आया था।

जब पूछा पुलिस में क्यों नहीं गए, तब सामने आया जंगल राज

कार्यालय में आए चुन्नी लाल, उसकी पत्नी संतराबाई, नाबालिग पुत्री व जीजा दालूराम से पूरी बात सुनने के बाद इसकी थाने में भी शिकायत करने को कहा गया। इस पर इन सभी आंखें भर आईं। फिर जो हालात बताए तो ऐसा लगा जैसे सदर थाने में जंगल राज चल रहा हो। इन्होंने बताया कि सदर थाने में तो पचासों बार फरियाद लेकर गए। मगर वहां से हमें बुरी तरह गाली-गलौच करके भगा दिया जाता है। संतराबाई के अनुसार मैंने कई बार पुलिस से कहा कि वे लोग मेरे पति को मार डालेंगे, तो उनका कहना होता है कि जब मार डालें, तब आ जाना। पीड़ितों के अनुसार वे एसपी को भी दो बार व डीएसपी को एक बार अपनी लिखित शिकायत दे चुकें हैं। मगर कहीं भी सुनवाई नहीं हो रही है।

कई बार छोड़ना पड़ा गांव, एक पुत्री को तो ननिहाल ही रख दिया

चुन्नी लाल की एक सोलह व दूसरी सत्रह वर्ष की पुत्रियां हैं। इन दोनों पर ही आरोपियों की बुरी नजर है। इसके चलते बड़ी पुत्री को तो पिछले कुछ महीनों से ननिहाल में ही रख दिया है। वहीं आरोपी कई बार इतना परेशान करते हैं कि इन सभी को नैनवां क्षेत्र के एक गांव में रहने वाले जीजा दालूराम के यहां जाकर रहना पड़ा है। इसी बीच शनिवार (नौ अप्रेल) की रात दस बजे करीब जीप भरकर पुलिस इनके घर पहुंची। उस समय घर पर अकेली चुन्नी लाल की पत्नी संतराबाई ही थी। इसके बावजूद पुलिसकर्मी अंदर घुसे और घर की तलाशी ली।

महिला कांस्टेबल नहीं थी साथ

संतराबाई का कहना है कि जीप में पांच पुरुष पुलिसकर्मी ही आए थे। इनके साथ कोई भी महिला पुलिसकर्मी नहीं थी। इसी प्रकार आज जब इन्हें थाने में बुलाकर छह घंटे पूछताछ की गई तब भी वहां महिला पुलिसकर्मी मौजूद नहीं थी। संतराबाई के अनुसार पुरुष पुलिसकर्मी ही उससे गाली-गलौच करता रहा।

कलक्टर के पास क्यों गए?

संतराबाई ने बताया कि सोमवार को ये लोग हमारे (न्यूज चक्र कार्यालय में) समझाने पर यहां से कलक्टर को प्रार्थना पत्र देने चले गए थे। वहां से थाने में रिपोर्ट आ गई होगी। यह भी सदर थाना पुलिस को नागवार गुजरा। आज जब उन्हें वहां बुलाया गया तो कई बार पुलिसकर्मियों ने कहा-आज के बाद एसपी और कलक्टर के पास मत जाना। वरना ठीक नहीं होगा।
आरोपों को बल मिला
उल्लेखनीय है कि शहर के लोगों में सदर थाने में व्याप्त कथित  भ्रष्टाचार को लेकर लम्बे समय से काफी चर्चा है। इस मामले से भी इन बातों को बल मिला है।
ऐसा संभव ही नहीं है- अनीस मोहम्मद, सदर थाना सीआई 
पुलिस के ऊपर बड़े अफसर भी हैं, मीडिया भी है। इसलिए ऐसा होना संभव ही नहीं है। सरपंच शर्मा के पुत्र की हत्या के मामले में पूछताछ के लिए हमने ही उन्हें बुलवाया थ। गांव के ही व्यक्तियों ने शिकायत की थी कि दो संदिग्ध व्यक्ति इनके यहां ठहरे हुए हैं।

मामले की जांच करवा ली जाएगी-भुवन भूषण यादव, एसपी बूंदी

आप मुझे पूरे मामले की जानकारी दे दें। अच्छी तरह जांच करवा ली जाएगी।