कुख्यात शहाबुद्दीन को लालू ने पार्टी में दिया बड़ा पद, बिहार में छिड़ी सियासी महाभारत

21
455
How close Lalu and Shahabuddin.....file photo
 न्यूज चक्र @ सेन्ट्रल डेस्क

जेल में बंद राजद के बाहुबली पूर्व सांसद शहाबुद्दीन से अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री डॉ. अब्दुल गफूर के मिलने का विवाद अभी ठंडा भी नहीं पड़ा कि राजद की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में शहाबुद्दीन को शामिल करने पर एक नया विवाद पैदा हो गया है। भाजपा ने इस पर कड़ा ऐतराज जताया है और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से हस्तक्षेप करने का अनुरोध किया है।

उधर, पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने पलटवार में भाजपा को अपने घर में झांकने की नसीहत दी है। जदयू के मुख्य प्रवक्ता व विधान पार्षद संजय सिंह ने कहा है कि लोकसभा और विधानसभा चुनावों में भाजपा ने सबसे अधिक अपराधियों का सहारा लिया।

भाजपा नेता व पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने आरोप लगाया कि राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद आपराधिक चरित्रों को बढ़ावा दे रहे है।

इससे गलत संदेश जा रहा है। शहाबुद्दीन को प्रतिष्ठा दी जा रही है। उनसे मिलने जेल में मंत्री-विधायक जा रहे हैं। राष्ट्रीय कार्यकारिणी में मनोनयन के बाद उनके खिलाफ कार्रवाई की हिम्मत कौन करेगा। आरोप लगाया कि शहाबुद्दीन को जेल से बाहर निकालने व उनके खिलाफ मुकदमों को कमजोर करने की कोशिश हो रही है।

वहीं, पलटवार में पूर्व मुख्यमंत्री और राजद नेता राबड़ी देवी ने नसीहत दी है कि भाजपा पहले अपना घर संभाले। हमें सीख देने की जरूरत नहीं है। गौरतलब है कि राजद ने रविवार को पार्टी की नई राष्ट्रीय कार्यकारिणी गठित की है। इसमें लंबे समय बाद पूर्व सांसद शहाबुद्दीन की वापसी हुई है।

शहाबुद्दीन 2009 से ही सीवान स्थित केंद्रीय कारागार में बंद हैं। उन्हें चार अलग-अलग मामलों में उम्रकैद की सजा सुनाई गई है। राज्य के 34 थानों में उनके खिलाफ अलग-अलग मामले दर्ज हैं।

Dailyhunt