फूड फेस्टिवल में रही परम्परागत राजस्थानी व्यंजनों की महक

राजस्थान दिवस पर पहली बार हुए आयोजन में बड़ी संख्या में महिलाओं ने दिखाया उत्साह, जिला कलक्टर सहित अन्य अतिथियों ने बढ़ाया हौंसला, जमकर की तारीफ

0
800
कोटा। कला दीर्घा में आयोजित फूड फेस्टिवल में सजाए गए अपने व्यंजनों के साथ प्रतिभागी महिलाएं।
कोटा। फूड फेस्टिवल में एक महिला प्रतिभागी के द्बारा बनाकर सजाए गए राजस्थानी व्यंजन।
कोटा। फूड फेस्टिवल में एक महिला प्रतिभागी के द्बारा बनाकर सजाए गए राजस्थानी व्यंजन।
कोटा। राजस्थान दिवस के अवसर पर आयोजित प्रदर्शनी में स्टूडेंट्स।
कोटा। राजस्थान दिवस के अवसर पर आयोजित प्रदर्शनी में स्टूडेंट्स।

न्यूज चक्र @ कोटा

राजस्थान दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित पारम्परिक राजस्थानी भोजन प्रतियोगिता फूड फेस्टिवल में महिलाओं ने खासा उत्साह दिखाया। एक से बढ़कर एक जायकेदार, लजीज व्यंजन प्रदर्शित किए गए। इसके चलते बाजरे का खीचड़ा, गेहूं का खीचड़ा, दाल-ढोकला, पंचमेल लड्डू, बाजरे की ठाणी, पुडला आदि ठेठ पारम्परिक व्यंजनों की महक पूरे दिन छाई रही। बुधवार को यह आयोजन कला दीर्घा में हुआ।
राजस्थान दिवस पर पहली बार हुए इस आयोजन में महिलाओं ने इस कदर रुचि दिखाई कि वे सुबह नौ बजे से ही कला दीर्घा में आकर व्यंजन तैयार करने में जुट गईं। यहां खास बात यह रही कि अधिकतर प्रतियोगी महिलाएं राजस्थानी परिधानों में ही सजी-संवरी हुई थीं।

सभी ने आयोजन को खूब सराहा

जिला कलक्टर डॉ. रविकुमार सुरपुर, एडीएम प्रशासन कल्पना अग्रवाल, एडीएम सिटी सुनीता डागा, नगर विकास न्यास सचिव डॉ. मोहन लाल यादव आदि अधिकारियों ने व्यंजनों का स्वाद चखा। साथ ही सभी ने महिलाओं के इस हुनर की जी भर कर प्रशंसा की। साथ ही इस आयोजन के लिए जिला कलक्टर की सोच और पहल को सराहा। उप महापौर सुनीता व्यास ने कहा कि इस आयोजन में महिलाओं का जोश काबिले तारीफ है। पूर्व महापौर रत्ना जैन ने कहा कि महिलाओं ने गजब का उत्साह दिखाते हुए इसे कोटा के लिए खास दिन बना दिया है। जिला कलक्टर ने प्रतिभागियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि महिलाओं ने स्वाद के साथ पौष्टिकता का भी ध्यान रखते हुए ऐसे व्यंजन बनाए जो हमारी संस्कृति का हिस्सा हैं। डॉ. अशोक शारदा सहित तन्वी, अश्विनी देशपाण्डे, डॉ रंजना, आईएएस प्राबेशनर चिन्मयी आदि अतिथियों व निर्णायकों ने भी आयोजन व प्रतिभागियों के हुनर की जमकर तारीफ की।

ये रहीं किचन क्विन

फूड फेस्टिवल के पारम्परिक थाली वर्ग में लक्ष्मी प्रथम, शैलजा विजय द्बितीय व संतोष पारेता तृतीय रहीं। रमा शर्मा व ललिता विजय को मिला सांत्वना पुरस्कार मिल। मिठाई वर्ग में प्रथम डॉ. मेघना शर्मा, द्बितीय नीलम विजय व तृतीय मेघना रहीं। इस वर्ग में सांत्वना पुरस्कार यास्मीन व विमला जैन को दिया गया। प्रतियोगिता में 65 प्रतिभागियों ने भाग लिया था। इन सभी को पुरस्कार प्रदान किए गए। यह आयोजन जिला प्रशासन के तत्वावधान में पर्यटन विभाग एवं विभिन्न विभागों के सहयोग से किया गया था। अंत में पर्यटन अधिकारी संदीप श्रीवास्तव ने धन्यवाद ज्ञापित किया। संचालन ओम पंचौली ने किया।

कोटा। कला दीर्घा में आयोजित फूड फेस्टिवल का अवलोकन करते जिला कलक्टर डॉ. रवि कुमार सुरपुर।
कोटा। कला दीर्घा में आयोजित फूड फेस्टिवल का अवलोकन करते जिला कलक्टर डॉ. रवि कुमार सुरपुर।

राजस्थान दिवस प्रदर्शनी का समापन, भावी शिक्षकों ने भी किया अवलोकन

राजस्थान दिवस पर जिला प्रशासन तथा सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग की ओर से आयोजित फोटो-चित्र प्रदर्शनी का बुधवार सायं समापन हो गया। अंतिम दिन शिक्षकों के साथ बीएड स्टूडेंट्स व अन्य स्टूडेंट्स ने भी आमजन के साथ इस राजस्थान विकास परक प्रदर्शनी का अवलोकन किया।
इनमें जवाहर लाल नेहरू बीएड कॉलेज, सकतपुरा के विद्यार्थी और भावी शिक्षक शामिल थ्ो। स्टूडेंट्स ने मोबाइल में ऐसी जानकारियों और चित्रों को सहेजा तथा कुछ विद्यार्थियों ने जानकारियां नोट की। स्टूडेंट्स ने इस प्रदर्शनी को बहुत ज्ञानवर्द्धक बताया। यहां सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग द्बारा प्रकाशित विकास परक साहित्य का वितरण भी किया गया।

 

कोटा। कला दीर्घा में आयोजित फूड फेस्टिवल में सजाए गए अपने व्यंजनों के साथ प्रतिभागी महिलाएं।
कोटा। कला दीर्घा में आयोजित फूड फेस्टिवल में सजाए गए अपने व्यंजनों के साथ प्रतिभागी महिलाएं।
कोटा। कला दीर्घा में आयोजित फूड फेस्टिवल में सजाए गए अपने व्यंजनों के साथ प्रतिभागी महिलाएं।
कोटा। कला दीर्घा में आयोजित फूड फेस्टिवल में सजाए गए अपने व्यंजनों के साथ प्रतिभागी महिलाएं।
कोटा। फूड फेस्टिवल की विजेता महिला को सम्मानित करतीं अतिथि।
कोटा। फूड फेस्टिवल की विजेता महिला को सम्मानित करतीं अतिथि।