राजस्थान दिवस 2016 : नवलसागर झील पर दिखेगी राजस्थानी कला और संस्कृति की झलक

15
382

न्यूज चक्र @ बूंदी

राजस्थान दिवस के उपलक्ष्य में 30 मार्च को सायं साढ़े सात बजे से शहर की ऐतिहासिक व मनोरम नवल सागर झील पर रंगारंग राजस्थानी सांस्कृतिक कार्यक्रमों की छटा बिखरेगी। प्रशासन और पर्यटन विभाग ने इन कार्यक्रमों से जनता का भरपूर मनोरंजन करने की तैयारियां पूरी कर ली हैं। कार्यक्रमों को आकर्षक व भव्य रूप देने के खास प्रयास किए गए हैं। कलाकारों की एक से बढ़कर एक प्रस्तुतियों के बीच परम्परागत नृत्य दर्शकों के लिए विशेष आकर्षण होंगे।

आतिशबाजी भी लुभाएगी

सांस्कृतिक कार्यक्रमों की समाप्ति के बाद भव्य आतिशबाजी के नजारे भी शहरवासियों को देर तक बांधे रखेंगे। नवलसागर झील रोशनी से जगमगा उठेगी।

शहरवासियों से सपरिवार आने की अपील

जिला कलक्टर नरेश कुमार ठकराल ने शहरवासियों से सांस्कृतिक कार्यक्रमों में सपरिवार शामिल होने की अपील की है। इस अवसर पर राजस्थानी कलाकार बूंदी का दरवाजा पर मंड रही मोरनी जैसे प्रसिद्ध लोकगीत सहित भवाई, चकरी नृत्य, कालबेलिया नृत्य, मोर नृत्य व देशभक्ति गीतों की प्रस्तुतियां भी देंगे। गोरबंद, घूमर और कृष्ण लीला (बृज की होली) के कार्यक्रम भी इसमें चार चांद लगा देंगे। झांकियां भी मुख्य आकर्षण का केन्द्ग होंगी।