राज्य बजट 2016-17 : आमजन खुश, मगर विपक्ष को दिख रही खामियां

82
819

 

न्यूज चक्र @ जयपुर

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने मंगलवार को विधान सभा में वर्ष 2016-17 के लिए राज्य बजट पेश किया। यह उनके वर्तमान कार्यकाल का तीसरा बजट था। इसमें करों में 325 करोड़ रुपए की राहत दी गई है। सीएम ने तीन घंटे तक बजट भाषण दिया। यह राज्य में अब तक का सबसे बड़ा बजट भाषण माना गया। परम्परागत तरीके से विपक्ष ने इसमें कई कमियां निकालने की कोशिश करते हुए इसे नाकारा बजट बताया। वहीं आमजन के अलावा अर्थशास्त्री भी इसे सराहते हुए नजर आए। कई आवश्यक वस्तुओं की वेट दर में कमी करने के अलावा कृषि क्ष्ोत्र सहित अन्य क्ष्ोत्रों पर भी कुछ न कुछ ध्यान देने से इसे अच्छा बजट माना जा रहा है। इसके प्रावधानों से कई वस्तुओं के दामों में गिरावट आएगी। हालांकि कुछ की कीमतों में बढ़ोतरी भी होगी।
बजट पेश करने की शुरुआत करते हए मुख्यमंत्री ने पहले तो पूर्ववतीã कांग्रेस सरकार को कोसा। उनका कहना था कि उसने अपने राजनीतिक लाभ के लिए वित्तीय व्यवस्था को चरमरा कर रख दिया था। इसके अलावा अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर गिरती तेल की कीमतों व बिजली कम्पनी के लगातार बढ़ते घाटे ने भी हालात को और बिगाड़ कर डाल दिया। आगामी समय में इनका और प्रभाव सामने आएगा।
राजे ने अपनी उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि विदेशी कंपनियों से प्रदेश में निवेश के लिए 295 एमओयू हुए हैं। हमने अनूठी योजनाओं को सफलतापूर्वक चलाया है। शिकायतों के निस्तारण का काम सुनियोजित किया गया। उन्होंने सुराज संकल्प यात्रा के दौरान किए गए वादों को पूरा कर लेने का दावा भी किया। साथ ही कहा कि सरकार ने सामाजिक सुरक्षा के लिए पर्याप्त काम किए हैं। सरकार विजन 2020 की ओर अग्रसर है। विधानसभा में बजट भाषण शुरू होने से पहले प्रतिपक्ष ने राज्य सरकार से ओलावृष्टि से हुए नुकसान के आंकलन की मांग की।

बजट पर भाषण शुरू होने से पहले नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी सहित अन्य विधायकों ने अपनी मांग रखते हुए जोर-जोर से बोलना शुरू कर दिया। इस पर विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल ने सख्त रुख अपनाते हुए प्रतिपक्ष के सदस्यों को बैठने के निर्देश दिए। हम बता दें कि विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल 11 बजे सदन में पहुंचे । बजट पेश करने की शुरुआत से पहले 11.02 बजे से विधानसभा में प्रतिपक्ष ने हंगामा करना शुरू कर दिया। विधानसभा अध्यक्ष ने इसे सख्ती दिखाते हुए रोका। फिर 11.03 बजे से मुख्यमंत्री ने बजट भाषण शुरू किया।
11.04 बजे विदेशी कम्पनियों से प्रदेश में निवेश के लिए एमओयू किया गया। 11.05 बजे से मुख्यमंत्री ने बजट पेश करना शुरू करते हुए कहा कि हमने अपनी अनूठी योजनाओं को सफलतापूर्वक चलाया है। रोजगार के अवसर दिलाना सरकार की प्राथमिकता है। गांवों को सड़क से जोड़ने के लिए काम तेज गति से करने के लिए 182 करोड़ 35 लाख रुपए स्वीकृत किए। भामाशाह योजना तो शुरुआत है, न्याय आपके द्बार कार्यक्रम के जरिए मुकदमों का निस्तारण किया गया। सालासर धाम का विकास होगा। 12 धामों पर 35 करोड़ रुपए व्यय किए जाएंगे। भरतपुर में 84 कोसी यात्रा को सुगम बनाने का प्रयास किया जाएगा। भरतपुर में गोवर्धन ब्रिज के लिए बजट प्रस्तावित है। जोधपुर से रामदेवरा तक रोड बनाई जाएगी। सड़कों के रुके सारे काम अगले साल तक पूरे कर लिए जाएंगे। डीजल जनरेटर से चलने वाली योजनाएं अब सौर ऊर्जा से संचालित होंगी। प्रदेश में 40 करोड़ रुपए से 4000 नए हैंडपम्प लगाए जाएंगे। 2 करोड़ रुपए से अजमेर का ईटी सेल सुधारा जाएगा। नायाब फिल्में संरक्षित हैं। सौर ऊर्जा के क्षेत्र में राजस्थान पहले नंबर पर है। प्रदेश में 40 हजार कृषि कनेक्शन मंजूर किए गए। प्रदेश में 40 हजार नए गैस कनेक्शन दिए जाएंगे। स्टार्ट अप पॉलिसी के लिए 10 करोड़ 85 लाख रुपए प्रस्तावित। छोटे उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए सभी जिला उद्योग केंद्रों में एमएसएमई सेंटर होंगे। खाद, बीज, बिजली सहित हरित खेती पर किसानों को राज्य सरकार अनुदान देगी। राज्य सरकार 17 से 20 वीं सदी के दस्तावेजों को संरक्षित करेगी। छोटे उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए सभी जिला उद्योग केंद्रों में एमएसएमई सेंटर स्थापित होंगे। खाद, बीज, बिजली सहित हरित खेती पर किसानों को राज्य सरकार अनुदान देगी।
नए खादी केन्द्र भी खोल जाएंगे। खादी के विकास के लिए ढाई करोड़ रुपए का प्रस्ताव। पशु चिकित्सा के क्षेत्र में पढ़ रहे छात्रों को 10 हजार रुपए की स्कॉलरशिप दी जाएगी। इंदिरा गांधी नहर परियोजना का नवीनीकरण होगा। राज्य में नगर वन उद्यान योजना शुरू होगी। इसमें पहले चरण में जयपुर और अजमेर शामिल होंगे। सूक्ष्म व लघु उद्योगों को मंडल से कंसेंट की अनिवार्यता समाप्त करने की घोषणा। जयपुर के पास नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ डिजाइन बनेगा। रणथंभौर में पुलिस की जगह फोरेस्ट गार्ड तैनात किए जाएंगे। युवाओं के लिए नौकरी के अवसर बढ़ेंगे। साबरमती बेसिन के बेकार हो रहे पानी का इस्तेमाल होगा। ग्लोबल राजस्थान एग्रोमिट का आयोजन होगा। अनाथ बच्चों के लिए पालनहार योजना शुरू। योजना के लिए 171 करोड़12.12 रुपए प्रस्तावित। 608 करोड़ रुपए की लागत से लिक सड़कों का निर्माण होगा। 761 करोड़ रुपए की लागत से प्रदेश में आरओबी का निर्माण किया जाएगा। मुख्यमंत्री राजश्री योजना का ऐलान। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के लिए 250 रुपए की बढ़ोतरी। बेटी के जन्म पर सरकारी सहायता मिलेगी। 1 जून 2016 के बाद जन्म लेने वाली बेटियों को ये सहायता दी जाएगी।
चूरू के सुजानगढ़ में उप जिला उद्योग केन्द्र खुलेगा। जयपुर कथक केंद्र परिसर के सुदृढ़ीकरण के लिए 1.65 करोड़ का प्रावधान। अजमेर में दुर्लभ फिल्मों को हैरिटेज के तहत प्रमोट करने के लिए लाइब्रेरी होगी। खेल और युवा मामलों के तहत 10 करोड़ रुपए की लागत से बहुमंजिला भवन का निर्माण होगा। आमेर, सिसोदिया रानी का बाग सहित जयपुर के कई अन्य पर्यटन स्थलों के लिए राशि का प्रस्ताव। राजस्थान में भंडारण क्षमता के विकास के लिए 162 करोड़ रुपए का प्रावधान। 100 नए मां बाड़ी केन्द्र खुलेंगे। बालिकाओं के लिए ट्रांसपोर्ट वाउचर की सुविधा होगी। स्कूल दूर होने पर मिलेगी यह सुविधा। 17.41 करोड़ रुपए से आधुनिक बनेंगे प्रदेश के स्टेडियम। इलाज के लिए निर्धन लोगों को दी जाएगी मदद। स्वास्थ्य केन्द्रों का होगा विकास। यूनानी मेडिकल कॉलेज व छात्रावासों का होगा निर्माण। वाईफाई सुविधाओं के लिए राजस्थान सरकार ने आवंटित किया बजट। चिकित्सा विश्वविद्यालयों में एमबीबीएस की 350 सीटें बढ़ाईं। पायलट बेसिस पर कई कॉलेजों में हेागा वाई-फाई। बीकानेर में तकनीकी विद्यालय और अजमेर में चित्रकला विद्यालय खोला जाएगा। चिकित्सा महाविद्यालयों के अपग्रेडेशन,कौशल श्रम विकास पर रहेगा जोर। बालिका संरक्षण के क्षेत्र में कार्य करने वाले होंगे पुरस्कृत। 25 हजार रुपए दिए जाएंगे।
मातृकुण्डिया तीर्थ का होगा विकास। 12 धार्मिक स्थलों के लिए 35 करोड़ रुपए प्रस्तावित। प्रदेश के 37 शहरों में जल वितरण और सीवरेज से जुड़े कार्य करवाए जाएंगे। 4200 करोड़ रुपए से होगा विकास। गांवों में रोजगार के लिए विशेष सभाओं का होगा आयोजन। रोजगार कार्यालयों का भी होगा नवीनीकरण। गांवों में रोजगार के लिए विशेष सभाओं का होगा आयोजन। रोजगार कार्यालयों का भी होगा नवीनीकरण। स्मार्ट सिटी के लिए 400 करोड़ का प्रावधान। सीवरेज परियोजना के लिए 73 करोड़ रुपए प्रस्तावित। जयपुर में कई पुलों को किया जाएगा चौड़ा। कोटा में होगा राजकीय भवन का निर्माण। श्मशानों और कब्रिस्तानों के विकास के लिए 100 करोड़ का प्रावधान। अजमेर में 4 करोड़ की लागत से बनेंगे 4 ऑपरेशन थिएटर। भामाशाह येाजना के लाभार्थियों के लिए ई-मित्र केन्द्र स्थापित होंगे। भामाशाह योजना के लाभार्थियों के लिए ई-मित्र केन्द्र स्थापित होंगे। पेयजल के लिए 14 करोड़ रुपए का बजट आवंटन। बैंकों की 500 नई शाखाएं खुलेंगी। कोटा में सैनिक विश्राम गृह बनाया जाएगा। नए सूचना केन्द्र भवन बनाए जाएंगे। कर प्रक्रिया के क्षेत्र में राज्य को देश में तीसरा स्थान मिला है। कई करों से जुड़ी प्रक्रिया ऑनलाइन की गई है। आईटी और टैक्स प्रक्रिया का सरलीकरण किया गया है। टैक्स से जुड़ी सेवाएं ऑनलाइन व मोबाइल एप के जरिए मिलेंगी। ई कॉमर्स पर प्रभावी नियंत्रण के लिए नियमों में संशोधन। 5-5 की दर से कर आरोपित। लग्जरी टैक्स में संशोधन का प्रस्ताव। आयातित माल पर 5.5 फीसदी टैक्स का प्रस्ताव। भू रूपांतरण की छूट 50 फीसदी से बढ़ाकर 100 फीसदी। फूड प्रोसेसिग पार्क के लिए अतिरिक्त रियायत दी जाएगी। 10 लाख रुपए के एजुकेशन लोन पर स्टाम्प ड्यूटी समाप्त। संपत्ति के रजिस्ट्रेशन में छूट । नए उद्योग लगाने वालों को विशेष छूट। वरिष्ट नागरिकों को स्टॉम्प ड्यूटी में मिलेगी छूट।

ये सामान हुए सस्ते

माचिस, टाइल, कपूर, लेदर शू, धागे, प्लास्टिक सामान, मेमोरी कार्ड, पैन ड्राइव, सभी तरह की गाडिèयां, अचार।

ये सामान और सेवा हुई महंगी

सिगरेट, होटल में ठहरना, सेमी स्टिच गार्मेंट, कोल्ड ड्रिंक