योग कार्यशाला में तन-मन को मिली नई ऊर्जा

0
684
कोटा। यूआईटी ऑडिटोरियम में आयोजित योग कार्यशाला में योग क्रियाओं का अनुसरण करते संभागी।
कोटा। योग कार्यशाला में योग क्रियाएं सिखाते योग प्रशिक्षक।
कोटा। योग कार्यशाला में योग क्रियाएं सिखाते योग प्रशिक्षक।

 

 

 

कोटा। संभागीय आयुक्त रघुवीर सिह मीणा योग प्रशिक्षक रिजुडा को स्मृति चिह्न् भेंट करते हुए।
कोटा। संभागीय आयुक्त रघुवीर सिह मीणा योग प्रशिक्षक रिजुडा को स्मृति चिह्न् भेंट करते हुए।                                          न्यूज चक्र @ कोटा                                  तनाव मुक्त व स्वस्थ जीवन के लिए योग का महत्व सर्वविदित है। हर रोज कुछ मिनट योग करने से ही हम स्वास्थ्य के साथ शांति और सकारात्मक मन:स्थिति प्राप्त कर सकते हैं। जीवन में सफलता प्राप्त करने के लिए ये सभी तत्व आवश्यक हैं। योग की इन विशेषताओं और सरल विधियों से शनिवार को शहरवासी रूबरू हुए। मौका था श्रीनाथपुरम स्थित यूआईटी ऑडिटोरियम में आयोजित योग कार्यशाला का। जिला प्रशासन द्वारा ईशा फाउंडेशन के सहयोग से यह आयोजन किया गया था। इसमें प्रशासनिक, पुलिस व न्यायिक अधिकारियों के साथ चिकित्सक, कोचिग संस्थान प्रबंधक, शिक्षक, विद्यार्थी व आम नागरिक तक शामिल होकर लाभान्वित हुए।
  1. योग कार्यशाला में संभागियों ने योग की वैज्ञानिकता, शरीर, मन और प्रकृति का संबंध तथा प्रकृति के साथ एक लय होकर योग क्रियाओं में रमने की बारीकियां सीखीं। ईशा फाउंडेशन के शिक्षकों ने योग क्रियाओं का प्रदर्शन कर उनकी जानकारियां देते हुए अभ्यास भी करवाया। सभी ने उत्साह से इनका अनुसरण किया। करीब दो घंटे के इस सत्र में स्वास्थ्य के लिए, सफलता के लिए, शांति के लिए, आनन्द के लिए, प्रेम के लिए तथा आभ्यंतर खोज के लिए सरल योग मुद्राएं बताई गईं। संभागीय आयुक्त रघुवीर सिह मीणा ने इस आयोजन को कोटावासियों के लिए खासकर कोचिग क्षेत्र से जुड़े लोगों के लिए बहुत लाभदायक बताया। उन्होंने योग प्रशिक्षक रिजुडा को स्मृति चिह्न् भेंट किया। प्रारम्भ में जिला कलक्टर डॉ. रवि कुमार सुरपुर ने आगन्तुकों का स्वागत करते हुए कहा कि तनाव मुक्त जीवन शैली के लिए योग सभी की आवश्यकता है। उन्होंने विश्वास जताया कि व्यस्तता भरी जीवनशैली में खासतौर पर विद्यार्थी वर्ग के लिए योग को दिनचर्या में शामिल करना निश्चय ही लाभकारी होगा। एडीएम सिटी सुनिता डागा ने आगंतुकों का आभार व्यक्त किया।

साधुवाद! जिला प्रशासन

योग कार्यशाला में संभागियों ने पूरे मन से योग क्रियाआें को सीखने के साथ इस आयोजन को खूब सराहा। कोचिंग प्रशिक्षक अनूप सिंघल ने इस आयोजन को शिक्षा क्षेत्र से जुडे़ लोगों के लिए बहुत लाभदायक बताया। पूनम का कहना था कि स्वास्थ्य और सकारात्मकता के साथ ही स्ट्रेस फ्री होने के लिए यह बहुत कारगर है। कोचिंग फैकल्टी रजनीश ने कहा कि विद्यार्थियों के लिए तो यह उपयोगी है ही, शिक्षकों के लिए भी बेहद लाभकारी है। चिकित्सक डॉ. पूनम खत्री ने भी जिला प्रशासन की इस पहल को सराहा। इटारसी, मप्र से आकर कोटा में रह रहीं अभिभावक मृदुला चौधरी ने कहा कि कोटा कोचिंग के लिए तो जाना ही जाता है, उस पर स्वस्थ माहौल के लिए जिला प्रशासन का यह आयोजन अपनत्व भरा कदम है। इसी तरह श्रीनाथपुरम निवासी गृहिणी रेणु नन्दवाना ने भी इस कार्यशाला को बेहतरीन बताया। छात्रा पल्लवी और तन्वी ने कहा कि यहां हमें बहुत महत्वपूर्ण जानकारियां व योग का महत्व जानने का अवसर मिला है।

कोटा। यूआईटी ऑडिटोरियम में आयोजित योग कार्यशाला में योग क्रियाओं का अनुसरण करते संभागी।
कोटा। यूआईटी ऑडिटोरियम में आयोजित योग कार्यशाला में योग क्रियाओं का अनुसरण करतकोटा। योग कार्यशाला में योग क्रियाएं सिखाते योग प्रशिक्षक।