अध्यापक पात्रता भर्ती परीक्षा में नकल की मशक्कत: चिप, ब्लूटूथ डिवाइस सहित रुपए गिनने की मशीन भी बरामद, 12 आरोपी गिरफ्तार

जूते-चप्पल में लगी थी चिप, ब्लूटूथ डिवाइस से की जानी थी नकल। पुलिस को आरोपियों से भारी मात्रा में ब्लूटूथ, लैपटॉप, एयरफोन, चिप लगी हुई घड़ियां, भारी मात्रा में मोबाइल चिप और स्केनर के साथ साढ़े चार लाख रुपए भी मिले। आरोपियों का संबंध नकल कराने वाले दो अन्तरराज्यीय गिरोह से बताया। बड़ी संख्या में प्रवेश पत्र भी मिले। शिक्षा विभाग के कर्मचारी के अलावा फौजी भी आरोपियों में शामिल। अन्य लोगों के भी शामिल होने की आशंका।

1
840
गिरफ्तार आरोपी, उनसे बरामद सामानों के साथ।

न्यूज चक्र @ भरतपुर

परीक्षा से ठीक पहले रविवार सुबह पुलिस ने शिक्षा विभाग के ही चपरासी के घर दबिश देकर भारी मात्रा में नकल कराने के काम आने वाले इन्ट्रूमेंट बरामद कर 7 आरोपियों को गिरफ्तार किया। इनमें एक फौजी व एक पटवारी भी शामिल है। इस कार्रवाई से पहले 5 अन्य आरोपियों को धरा गया था। इनसे मिली जानकारी के आधार पर ही यह दबिश दी गई |पेपर आउट करने और फिर उससे परीक्षा केंद्रों पर आधुनिक उपकरणों की मदद से नकल करवाने वाले दो अन्तरराज्यीय गिरोहों से नाता रखने वाले इस चपरासी का नाम है राजकुमार। एएसपी भरतलाल मीणा के अनुसार जिला शिक्षा अधिकारी में कार्यरत राजकुमार के पास ही रीट के पेपर पहुंचाने की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी थी।

पेपर आउट कराने वाला यह गिरोह चपरासी के घर पर ही डेरा डाले हुआ था। यहीं से पेपर को लीक कर दूसरे गिरोह तक पहुंचाया जाना था। इस काम में उसके साथ 7 और आरोपी जुड़े थे। इनमें से 6 पुलिस की गिरफ्त में आ चुके हैं। एक आरोपी फरार है।

घर पर मिली नोट गिनने की मशीन

पेपर लीक करने वाले इस गिरोह ने अभ्यर्थियों से वसूली जाने वाली बड़ी रकम को गिनने के लिए नोट गिनने वाली मशीन तक लगा रखी थी। पुलिस ने राजकुमार के घर से इस मशीन को भी बरामद कर लिया। उसके पास से चाढ़े चार लाख रुपए भी मिले हैं।

सेना से एक महीने की छुट्टी लेकर आया था फौजी

पेपर आउट कराने वाली इस गैंग में एक फौजी लखन सिह भी है। यह सेना से एक माह की छुट्टी लेकर आया था।
चपरासी पर थी पेपर बांटने की जिम्मेदारी
पुलिस के अनुसार जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में कार्यरत राज कुमार को रविवार सुबह राजकोषालय से परीक्षा पेपर ले जाकर बांटने की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सौंपी गई थी। उसे 17 दलों को पेपर हैंडओवर करने थे। गिरोह की साजिश के अुनसार इसी दौरान उसे पेपर लीक करना था। लेकिन पुलिस ने इसके मंसूबे पर पानी फेर दिया।

इस तरह चली कार्रवाई

भरतपुर की सेवर थाना पुलिस ने पेपर आउट करने की फिराक में बैठे चपरासी गिरोह के 7 लोगों को पकड़ने से पहले नकल कराने वाले गिरोह के 5 लोगों को पकड़ा। उनसे 5 मोबाइल और एक बोलेरो जीप बरामद की। इनसे पूछताछ के बाद ही उन्हें चपरासी वाले गिरोह की जानकारी मिली और उन्हें भी घर से धर लिया गया। इस प्रकार अभी तक कुल 12 आरोपी गिरफ्तार किए जा चुके हैं।

पुलिस मुख्यालय से मिली सूचना पर की कार्रवाई

एएसपी भरत मीणा ने बताया कि रीट परीक्षा में नकल कराने वाले गिरोह के सक्रिय होने की सूचना पुलिस मुख्यालय से मिली थी। इसे ध्यान में रखते हुए पुलिस गिरोह से जुड़े लोगों की खुफिया जानकारी जुटा रही थी। शनिवार देर रात को पता चला था कि धौलपुर के कुछ युवक एक वाहन में सवार होकर आए हैं। वे सेवर मार्ग स्थित जैन मंदिर के पास है। पुलिस टीम को मौके पर भ्ोज कर उन्हें दबोच लिया गया। एक अन्य सूचना के तहत कुम्हेर गेट चौराहे के पास सिथत बजरंग कॉलोनी सहित कुम्हेर, डीग सहित अन्य स्थानों पर भी दबिश दी गई। इस मौके पर पुििलस ने भारी मात्रा में नकदी, व नकल कराने में काम आने वाले उपकरण भी बरामद किए हैं। अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है। पुलिस ने दावा किया है कि इस प्रकार जिले में पेपर आउट कराने व नकल कराने के षड़यंत्र का पर्दाफाश किया है।

इन्हें किया गया है गिरफ्तार

पुलिस ने रोडवेज परिचालक भगवत प्रसाद (35) निवासी डीग,हाल निवासी बजरंग नगर भरतपुर,डीग के बदनगढ़ का पटवारी जितेन्द्र सिंह (23) निवासी डरवाली, मथुरा हाल निवासी डीग, साहब सिंह (19) पुत्र परशुराम जादौं निवासी बरसाना, मथुरा, रामेश्वर (34) पुत्र बालमुकुंद जादौं निवासी बरसाना, हाल कर्मचारी एपीसीएल नोएडा, तेजपाल सिंह (18) पुत्र बीना नारायण सिंह जादौं निवासी बरसाना, हाल निवासी बजरंग कॉलोनी भरतपुर, लखन सिंह पुत्र ख्ोमसिंह जादौं निवासी गहनावली थाना डीग सेना में ग्रेनेडियर को गिरफ्तार किया। इनके अलावा राजकुमार (23) पुत्र कुंदन सिंह नाई निवासी मौरोली कलां थाना उद्योग नगर, हाल सहायक कर्मचारी जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय प्रथम भरतपुर, कुंज बिहारी (28) पुत्र मुकेश निवासी खेरली थाना मनिया, जिला सवाई माधोपुर हाल अध्यापक प्राइमरी स्कूल नकटा का पुरा थाना मनिया, जिला धौलपुर, भूपेन्द्र (26 )पुत्र ओमप्रकाश राजपूत निवासी विरोरा थाना मनिया, जिला धौलपुर, मुकेश (45) निवासी खेरली थाना मनिया ,धौलपुर, राकेश (55) पुत्र छोटेलाल निवासी खेरली थाना मनिया, जिला धौलपुर व देवेन्द्र( 29) पुत्र प्रमोद निवासी अर्जुन नगर आगरा को भी गिरफ्तार किया गया है।

गिरोह से उपकरण और सामान बरामद

ईयरपीस,सिम कार्ड,19 मोबाइल फोन, 11 कार्ड फोन, पेनड्राइव 1, लैपटॉप 2, स्कैनर 2, ब्लूटूथ वाली घड़ियां 7, इंटरनेट डोंगल 1, सैंडल 30 जोड़ी, मोबाइल प्रोटेक्टर (मेटल) 30, गर्म पट्टियां, नोट गिनने की मशीन, प्रिंटर।

वॉट्सअप पर पेपर वायरल, सरपंच व दो फौजी सहित आठ जने हिरासत में

सीकर । रीट परीक्षा कड़ी सुरक्षा के बीच हुई। परीक्षा शुरू होने से पहले ही वॉट्सअप पर पेपर वायरल हुए। हालांकि इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई कि ये पेपर ही परीक्षा में आए हैं। वहीं पेपर आउट होने की आशंका को देखते हुए झुंझुनूं जिले में पुलिस ने आठ जनों को हिरासत में लिया। इनमें नवलगढ़ में दो फौजी भी शामिल हैं। वहीं चिड़ावा पुलिस ने छह जनों को पकड़ा। इनमें सोलाना ग्राम पंचायत का सरपंच दीपक करोल भी शामिल है।

पुलिस व प्रशासन की मुस्तैदी का असर, शांति से हो गई रीट

न्यूज चक्र @ जयपुर / कोटा / जोधपुर / भरतपुर / सीकर / सेन्ट्रल डेस्क

माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की ओर से रविवार को राज्यभर के 2065 परीक्षा केन्द्रों पर अध्यापक पात्रता परीक्षा (रीट) भारी गहमागहमी व अफवाहों के बीच सम्पन्न हुई। खासे इंतजामातों के दावों के बावजूद कई जगह नकल करवाने व पेपर लीक करने के लिए आपराधिक गिरोहों ने खासी मशक्कत की। अच्छे-खासे तामझाम जुटाए। इसके बावजूद भी अभी तक के पुलिस के दावों के अनुसार हर जगह इन्हें समय से पूर्व ही धर-दबोचा गया। इससे इनकी साजिश नाकाम हो गई। इस मामले में सबसे बड़ी कार्रवाई भरतपुर में हुर्इ। यातायात की अव्यवस्था, समय की सख्ती रहने से पांच मिनट देरी से भी पहुंचे अभ्यर्थियों के परीक्षा से वंचित रह जाना, नियम विरुद्ध महिला अभ्यर्थियों के कई जगह मंगलसूत्र आदि जेवर उतरवा लेना आदि को छोड़कर परीक्षा शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न हो गई। हालांकि इस बीच कई जगह से पेपर आउट होने की अफवाहें भी उठ रही हैं। मगर इनकी पुष्टि नहीं हुई।

जैमर लगाने के दावे थे …चलता रहा मोबाइल नेटवर्क

जयपुर। रीट परीक्षा की आयोजक माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने नकल की रोकथाम के लिए परीक्षा केन्द्रों पर जैमर लगाने की घोषणा की थी। मगर अधिकतर केन्द्रों पर मोबाइल नेटवर्क उपलब्ध था। जयपुर में 263 परीक्षा केन्द्र बनाए गए थे। सुबह दस बजे से दो पारियों में परीक्षा शुरू हुर्इ।

कई केन्द्रों पर जांच में नहीं थी सख्ती

परीक्षा कक्ष में प्रवेश करने से पहले किसी परीक्षा केन्द्र पर तो अभ्यर्थियों के साथ सख्ती बरतते हुए अच्छी तरह तलाशी ली गई। वहीं कुछ केन्द्रों पर तो महिला अभ्यर्थियों के मंगलसूत्र व टॉप्स तक उतरवा लिए गए तो कहीं उन्हें इनके साथ ही प्रवेश करने दिया गया।

सामान्य था पेपर

कक्षा पांच से आठ तक के शिक्षकों की भर्ती के लिए आयोजित हुई द्बितीय लेवल परीक्षा का पेपर अभ्यर्थियों के लिहाज से औसत रहा। इसमें कुल 150 प्रश्न पूछे गए थे। इनमें बाल अभिरुचि के 30, हिन्दी और अंग्रेजी से संबंधित 60 तथा सामाजिक विज्ञान, विज्ञान व गणित के 60 सवाल पूछे गए। अधिकतर अभ्यर्थियों ने इस पेपर को सामान्य बताया।

फैक्ट फाइल

रीट- राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा
आयोजक- राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड
कुल परीक्षा केन्द्र- 2065
अति संवेदनशील केन्द्र- 12 जिलों के 300 परीक्षा केंद्र
सीसीटीवी कैमरे- 300 केंद्रों पर
परीक्षार्थी- 8.75 लाख

गिरफ्तार आरोपियों से बरामद साढ़े चार लाख रुपए।
गिरफ्तार आरोपियों से बरामद साढ़े चार लाख रुपए।