सकारात्मक विचारों से मुश्किल वक्त भी कट जाता है

सहारा इंडिया के 39 वें स्थापना दिवस समारोह पर सहारा श्री सुब्रत रॉय की पुस्तक का लोकार्पण

3
753

न्यूज चक्र @ कोटा
सहारा इंडिया परिवार के मैनेजिंग वर्कर और चैयरमेन सुब्रत रॉय सहारा लिखित पुस्तक लाइफ मंत्रा का सोमवार को सीएडी स्थित वाईकेएस बेंक्वेट हॉल में विमोचन किया गया। साथ ही सहारा इंडिया का 39 वां स्थापना दिवस भी मनाया गया। इस अवसर पर विख्यात चिकित्सक डॉ. विजय सरदाना मुख्य अतिथि थे। कम्पनी के क्षेत्रीय अधिकारी सज्जन सिंह भी मौजूद थे।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि डॉ.सरदाना ने कहा कि कोई भी व्यक्ति अपने मुश्किल समय को सकारात्मक विचारों से काट सकता है। सुब्रत राय सहारा भी इस समय संकट में हैं। इस दौरान भी उन्होंने लाइफ मंत्रा जैसी कृति की रचना कर इस बात को साबित कर दिया है। समारोह में सुब्रत राय सहारा के शुभकामना संदेश का वाचन भी किया गया।
क्षेत्रीय अधिकारी सज्जन सिंह ने कहा कि जीवन मंत्रा पुस्तक सहारा श्री का शोध प्रबंधन है। जिसमें जीवनभर के अनुभव और विभिन्न समस्याओं के समाधान को नए नजरिए से पेश किया गया है। सभी मनुष्यों में निहित मूल प्रवृतियों से जुड़े मनोवैज्ञानिक व भावनात्मक पहलुओं का सुंदर और विस्तृत ढंग से वर्णन किया गया है। इसे पढ़कर सर्वशक्तिमान द्बारा मनुष्य को प्रदत्त नैसर्गिक सौन्दर्य के रहस्य से भलीभांति परिचित हो सकेंगे। पुस्तक का विमोचन देश-विदेश के पांच हजार स्थानों पर एक साथ किया गया है। लाइफ मंत्रा: चिंतन तिहाड़ से के बाद दो अन्य पुस्तकों का सेट भी आने वाला है।

सिंह ने आगे बताया कि सुब्रत रॉय सहारा 12 लाख सहकर्मियों के अभिभावक होने के साथ ही महान चिंतक, शिक्षक व मार्गदर्शक भी हैं। जीवन पर उनके अनोखे, गैर परम्परागत, सूक्ष्म और प्रभावकारी दर्शन ने वैश्विक ख्याति प्राप्त की है। विश्व प्रसिद्ध संस्थान हार्वर्ड स्कूल ऑफ बिजनेस, यूएसए, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, भारतीय प्रबंधन संस्थान व बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय उन्हें छात्रों को संबोधित करने के लिए आमंत्रित कर चुके हैं। इस दौरान अजय शर्मा, महेश मित्तल, सुरेश कुमार, ओमप्रकाश पारेता, भीमसिंह, शंभुदयाल शर्मा, अशोक सचदेवा, विनय गुप्ता, महेन्द्र राठौड़, असलम खान, सिराज भाई, महेशचन्द चौबदार, मीनाक्षी शर्मा, बच्चू सिंह आदि निवेशक व कार्यकताã मौजूद थे।