संगत-पंगत अभियान से कायस्थ समाज के हर वंचित तक पहुंचेगी सहायता

3
654

कोटा से हुआ राजस्थान में समाज सेवा के कार्यक्रम का शुभारम्भ

न्यूज चक्र @ कोटा

अन्तरराष्ट्रीय कायस्थ समाज के अध्यक्ष एवं बिहार से राज्यसभा सांसद आरके सिन्हा ने कहा कि सुभाष चन्द्र बोस सच्चे राष्ट्रभक्त थ्ो। आज के युवाओं को भी उन जैसा बनने की आवश्यकता है। बोस जैसे महान राष्ट्रवादी नेताओं को कांग्रेस सरकार में भुला दिया गया था। सिन्हा शनिवार को सुभाष जयंती के उपलक्ष्य में महावीर नगर, विस्तार योजना में स्थित लाल बहादुर शास्त्री स्कूल में आयोजित समाज के संगत-पंगत अभियान के शुभारंभ समारोह को अध्यक्ष के रूप में संबोधित कर रहे थ्ो। मुख्य अतिथि राष्ट्रीय कायस्थ महासभा के महासचिव अशोक श्रीवास्तव थे।

संगत-पंगत की ये बताई खूबियां

सिन्हा ने संगत-पंगत अभियान के बारे में कहा कि इसके तहत पांच कार्यक्रमों का आयोजन होगा। कायस्थ समाज में व्याप्त बेरोजगारी के निदान के प्रयास किए जाएंगे। कौशल विकास जैसे कार्यक्रमांे के द्बारा स्वरोजगार के लिए मदद दी जाएगी। उच्च शिक्षा के लिए छात्रवृत्ति की व्यवस्था भी की जाएगी। इसके अलावा दहेज रहित विवाह को प्रोत्साहन दिया जाएगा। सामूहिक विवाह समारोहों का आयोजन भी होगा। समाज के गरीब सदस्यों को इलाज के लिए आर्थिक मदद भी की जाएगी। आवश्यकता होने पर कानूनी सहायता भी प्रदान की जाएगी।
मुख्य अतिथि श्रीवास्तव ने कहा कि संगत-पंगत अभियान समाज के सामंजस्य से ही सफल हो सकता है। अभियान के तहत समाज के हर वंचित व्यक्ति की पहचान कर उस तक सहायता पहुंचाने का कार्य किया जाए। राजस्थान में कोटा से इस अभियान की शुरुआत हुई है तो इसकी सफलता के लिए भी कोटा को ही प्रयास करना पड़ेगा।

राजस्थान कायस्थ महासभा के प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप माथुर ने कहा कि संगत-पंगत अभियान बहुत अच्छी पहल है। राज्य में इसे सभी स्थानों तक पहुंचाने का कार्य किया जाएगा। प्रयास होगा कि समाज के प्रत्येक वंचित व्यक्ति को इसका लाभ मिल सके। उन्होंने बताया कि हर माह के अंतिम शनिवार को अभियान की बैठक होगी।
कार्यक्रम के दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए गए। इनमें बालिका आस्था सक्सेना की मांड गायिकी व बेटी बचाने का संदेश देने वाले गीत ने समां बांध दिया। कार्यक्रम का संचालन रेणु श्रीवास्तव ने किया। इस अवसर पर मीडिया प्रभारी संतोष श्रीवास्तव, डॉ. वीके सक्सेना, प्रदीप कुलश्रेष्ठ, अतीश सक्सेना, पंकज सक्सेना, सुनील भटनागर, भूपेन्द्र सक्सेना, रविन्द्र श्रीवास्तव आदि भी मौजूद थे।
इस आयोजन में बूंदी से भी बड़ी संख्या में समाजबंधु शामिल हुए। इनमें श्री चित्रगु’ कायस्थ महासभा, बूंदी के संरक्षक जगदीश प्रसाद भटनागर व दयास्वरूप भटनागर, अध्यक्ष विजय प्रकाश भटनागर सहित ललिता माथुर, रमेश चन्द्र माथुर, मुकुट बिहारी सक्सेना, महेश सक्सेना, राजीव सक्सेना, बेद प्रकाश सक्सेना, आशीष माथुर, भास्कर माथुर, गिरिश भटनागर, मुकेश भटनागर आदि शामिल थ्ो।