कोटा थर्मल पावर प्लांट की चार इकाइयों को बंद करने के निर्णय की खिलाफत करेगी कांग्रेस: धारीवाल

5
489

न्यूज चक्र @ कोटा

राज्य के पूर्व मंत्री व वरिष्ठ कांग्रेस नेता शांति धारीवाल ने सरकार पर आरोप लगाया है कि वह कोटा थर्मल पावर प्लांट की चार इकाइयों को बंद करने का निर्णय लेकर श्रमिकों और प्रेदशवासियों के सामने संकट खड़ा कर परेशान करने में लगी है। उनका कहना है कि भाजपा सरकार नए उर्जा केन्द्रों को खोलने की जगह राज्य की शान माने जाने वाले पावर प्लांट को पंगु कर रही है। इस निर्णय के विरोध में पार्टी की ओर से आंदोलन किए जाने की चेतावनी भी दी है।
धारीवाल ने एक बयान जारी कर ये आरोप लगाए हैं। इसमें उन्होंने राज्य सरकार से पावर प्लांट की इकाइयों को बंद नहीं करने की पुरजोर मांग भी की है। उनका कहना है कि यदि ऐसा होता है तो यह श्रमिकों के साथ भारी कुठाराघात होगा। सालों से चल रहे पावर प्लांट को बंद करने से हजारों श्रमिकों के सामने रोजी- रोटी का संकट खड़ा हो जाएगा। सरकार सुपर क्रिटिकल पावर प्लांट बनाने का दावा कर रही है। लेकिन जमीनी हकीकत यह है कि कोटा में फिलहाल सुपर क्रिटिकल यूनिट की सम्भावना नहीं है।

बंद करना है तो 250 करोड़ रुपए क्यों खर्च कर रही है सरकार

पूर्व मंत्री धारीवाल ने सरकार पर थर्मल पावर प्लांट की चार इकाइयों को बंद करने के निर्णय के बावजूद उसकी मशीनरियों पर रख-रखाव के नाम पर 250 करोड़ रुपए खर्च किए जाने पर सवाल उठाए हैं।