अंतिम संस्कार के लिए गरीबों को मुफ्त मिलेंगी लकड़ियां व अन्य सामग्री

3
600

कर्मयोगी सेवा संस्थान अन्य वर्गों के लिए भी नियंत्रित मूल्य पर लकड़ियां देगा

मुक्तिधाम सेवा समिति करेगी निगरानी

न्यूज चक्र @ कोटा

कर्मयोगी सेवा संस्थान की स्टेशन क्षेत्रीय मुक्तिधाम सेवा समिति क्षेत्र के 14 मुक्तिधामों पर गरीबों को निशुल्क लकड़ी और अंतिम संस्कार की अन्य सामग्री उपलब्ध कराएगी। वहीं अन्य लोगों को भी नियंत्रित मूल्य पर यह सामग्री उपलब्ध कराई जाएगी। संस्थान के संस्थापक राजाराम कर्मयोगी व संयोजक अलका दुलारी ने यह जानकारी दी।
कर्मयोगी व दुलारी के अनुसार बाजार में लकड़ी की कीमत 6 से 9 रुपए किलो है। इससे गरीबों को अंतिम संस्कार में समस्या का सामना करना पड़ता है। इसी को देखते हुए यह सुविधा शुरू की जा रही है। लकड़ी का मुख्यालय संजय नगर में होगा। यहां से अन्य स्थानों पर लकड़ी की सप्लाई की जाएगी।
मुक्तिधाम सेवा समिति के अध्यक्ष देवानन्द तथा महामंत्री सुधीर सरोजा ने बताया कि सेवा का शुभारम्भ 1 जनवरी को दोपहर 12 बजे विधायक प्रहलाद गंुजल व महापौर महेश विजय करेंगे। इस सुविधा के तहत गरीब व असहाय लोगों को निशुल्क 4 क्विंटल लकड़ी, 100 कंडे तथा अंतिम संस्कार का किट दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि तीसरे की रस्म के लिए मुक्तिधाम पर ही चिमटा, फावड़ा व गंगाजल उपलब्ध रहेगा।
समिति की ओर से मुक्तिधामों पर स्थाई रूप से चौकीदारों की भी व्यवस्था की जा रही है। मुक्तिधामों पर पुष्प वाटिका विकसित करने के साथ ही रामधुन, छायादार स्थल निर्माण, वाटर कूलर आदि की भी समुचित व्यवस्था की जा रही है। आवश्यकता होने पर मोबाइल नंबर 9667576605 पर कॉल करके इस सेवा का लाभ लिया जा सकता है।

पुष्कर में स्नान कर अजमेर दरगाह पर चादर पेश करेंगे

राजाराम कर्मयोगी ने बताया कि वे देश में अमन चैन की दुआ करते हुए 31 दिसम्बर को पुष्कर सरोवर में स्नान के बाद ब्रह्मा जी के मंदिर में दर्शन करेंगे। इसके बाद अजमेर पहुंचकर ख्वाजा साहब को चादर पेश की जाएगी। उनके साथ इस दौरान उनकी पत्नी अलका दुलारी सहित वीणा सिंह गहलोत, लक्ष्मण सिंगोर, वाजिद अली वारसी, सलीमुद्दीन, मुन्नाभाई आदि बारह साथी होंगे।