कोटा में अब बेघरबार परिवारों का होगा पुनर्वास: राजावत

7
4013

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन पर निराश्रय लोगों को सौगात देने के लिए हुआ कार्यक्रम

न्यूज चक्र @ कोटा

विधायक भवानी सिंह राजावत ने कहा कि अब कोटा में फुटपाथ पर खुले आसमान के नीचे रहने वाले लोगों को उजाड़ने की बजाय उनके पुनर्वास की उचित व्यवस्था की जाएगी। वे शुक्रवार को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिवस के मौके पर निराश्रय लोगों को घर की सौगात देने के कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थ्ो।
इस अवसर पर राजावत ने कहा कि स्वामी विवेकानन्द, जनसंघ के संस्थापक पं. दीनदयाल उपाध्याय व जननायक अटल बिहारी वाजपेयी का एक ही सपना था कि अंतिम पंक्ति तक के व्यक्ति का उत्थान हो। इसके बिना देश का उत्थान सम्भव नहीं है। देश की तकदीर और तस्वीर बदलने वाले जननायक वाजपेयी जी ने शेरशाह सूरी के बाद पहली बार देश में सड़कों का जाल बिछाया। परमाणु बम बनाकर दुनिया को भारत की ताकत दिखाई। विकास को नये आयाम दिये। हमें उनके ही पदचिन्हों पर चलकर विकसित भारत का निर्माण करना है। लेकिन हमें यह भी ध्यान रखना होगा कि ये विकास गरीब के अरमानों को कुचलकर न हो। गरीब लोगों को भी आसरा देना होगा। तभी वाजपेयी जी का जन्मदिन मनाना सार्थक है। लुहार परिवारों के लिए महाराणा प्रताप बाजार के निर्माण की घोषणा करते हुए राजावत ने कहा कि अब किसी भी लुहार को चौराहे पर लोहा कूटने और सड़क किनारे पुराने खिड़की दरवाजे बेचने की जरूरत नहीं है। इन सभी को महाराणा प्रताप बाजार में जगह देकर उनकी आजीविका की स्थायी व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने कहा कि पुनर्वास के लिए विभिन्न घुमंतु जातियों और अतिक्रमण हटाने के नाम पर विस्थापित किये गए सैंकड़ों लोगों के आवेदन प्राप्त हुए हैं। इनके पुनर्वास के लिए नगर विकास न्यास के उपसचिव मानसिंह मीणा की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया जाएगा। इसमें स्थानीय पार्षद एवं घुमंतु जातियों के एक-एक प्रतिनिधि भी सदस्य होंगे। यह समिति समस्त आवेदनों का सत्यापन करने के बाद पुनर्वास के लिए स्थान का निर्धारण करेगी । लॉटरी के द्बारा पात्र 5०० परिवारों का पुनर्वास किया जाएगा। राजावत ने कहा कि इन परिवारों को मकान निर्माण के लिए मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से बात करके समाज कल्याण विभाग के माध्यम से 75 हजार रुपए की सहायता भी दिलवाई जाएगी।

गरीब की पीड़ा बताते हुए रो पड़े राजावत

बेघर लोगों की पीड़ा बयान करते हुए विधायक राजावत अपने आवेग को संभाल नहीं पाए। झोपड़ी में गरीब कैसे रहता है, कैसे खाना बनाता है, कैसे कड़कड़ाती सर्दी और मूसलाधार बारिश में उसकी रात गुजरती है, यह सब बताते हुए राजावत की आंखों से आंसू बह निकले। एक संस्मरण सुनाते हुए उन्होंने कहा कि सीएडी चौराहे पर फुटपाथ पर रहकर लोहा कूटने वाले एक लुहार परिवार का 13 वर्षीय बालक खेलते हुए ट्रक के नीचे आ गया था। इससे उसके चीथड़े उड़ गए। वह दर्दनाक दृश्य आज भी उनकी स्मृति से निकल नहीं पाया है। उन्होंने उसी समय तय कर लिया था कि जब तक फुटपाथ पर रहने वाले हर परिवार के सिर पर छत नहीं ले आएंगे, तब तक चैन की सांस नहीं लेंगे।

कार्यक्रम की अध्यक्षता उपमहापौर सुनीता व्यास ने की। पूर्व जिला महामंत्री आलोक शर्मा, फल सब्जीमंडी अध्यक्ष ओम मालव, भाजपा के जिला मंत्री राकेश मिश्रा, युवा मोर्चा जिला उपाध्यक्ष अर्जुन सिंह गौड़, जिला उपाध्यक्ष अनिरुद्ध सिंह राजावत, पार्षद कृष्ण मुरारी सामरिया, मधुकंवर हाड़ा, भगवान गौतम, शकुन्तला बैरवा, जगदीश मोहिल, लुहार समाज के राष्ट्रीय अध्यक्ष कालूराम चौहान, बंजारा समाज के अध्यक्ष चंदू बंजारा, भांड समाज के अध्यक्ष गौरीशंकर आदि ने भी समारोह को सम्बोधित किया।