साथी की पत्नी की हत्या कर जेवरात लूटने के आरोपी को आजीवन कारावास

3
572

अभियोजक पक्ष की ओर से लोक अभियोजक भूपेन्द्र सहाय सक्सेना ने की पैरवी

न्यूज चक्र बूंदी

जिला एवं सत्र न्यायाधीश अशोक कुमार ने शनिवार को हत्या व लूट के एक अरोपी को आजीवन कारावास की सजा सुनार्इ। कापरेन में यह वारदात ढाई साल से भी अधिक समय पहले हुई थी। इस मामले में अभियोजक पक्ष की ओर से लोक अभियोजक भूपेन्द्र सहाय सक्सेना ने पैरवी की ।
मामले के अनुसार 28 अक्टूबर 2०13 को कापरेन निवासी बाबूलाल ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि वह और उसका किरायेदार गुना निवासी नरेन्द्र सिंह कारीगरी का काम करते थ्ो। 28 अक्टूबर को वे दोनों एक साथ काम करने निकले। रास्ते में से नरेन्द्र घर पर कुछ सामान भूल जाने की बात कह कर वापस चला गया। मगर वह काफी समय तक नहीं लौटा। इस पर बाबूलाल खुद उसे देखने के लिए घर गया। वहां नरेन्द्र सिंह तो नहीं मिला, मगर बाबूलाल की पत्नी रुकमणि बुरी तरह घायल अवस्था में पड़ी हुई थी। उसके शरीर से काफी खून बह रहा था। साथ ही उसके पहने हुए जेवर भी गायब थ्ो। बाद में रुकमणि की मौत हो गई। इस मामले में कापरेन पुलिस ने नरेन्द्र सिंह के खिलाफ हत्या व लूट का आरोप दर्ज कर तफ्तीश के बाद चालान पेश किया। इस पर अभियोजन पक्ष ने दस गवाह पेश कर चालान के साथ पेश किए दस्तावेजों को भी प्रदर्शित किया। मामले की सुनवाई के पश्चात जिला एवं सत्र न्यायाधीश अशोक कुमार ने नरेन्द्र सिंह को हत्या के आरोप में आजीवन कारावास व दो हजार रुपए के जुर्माने तथा लूट के मामले में दस साल की सजा व दो हजार रुपए के जुर्माने की सजा सुनाई। ये दोनों सजाएं एक साथ चलेंगी। जुर्माना अदा नहीं कर पाने की स्थिति में आरोपी को एक माह का अतिरिक्त कारावास भुगतना पड़ेगा। खास बात यह रही कि न्यायाधीश ने अभियोजन पक्ष की ओर से आरोपी को दी गई सजा के अलावा पीड़ित को प्रतिकार राशि के रूप में एक लाख रुपए दिलाए जाने का निवेदन भी किया था। इसे भी न्यायाधीश ने स्वीकार कर आदेश जारी कर दिए।