70 हजार की रिश्वत मांगी, एसीपी व दलाल गिरफ्तार

7
546
Arrested ACP Vishnoi and mediator Dungardan

 
न्यूज चक्र @ जोधपुर

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने शनिवार को एक बड़ी कार्रवाई करते हुए दलाल के माध्यम से रिश्वत मांगने के आरोप में उप अधीक्षक, पुलिस को गिरफ्तार कर लिया। जोधपुर पुलिस कमिश्नरेट में एसीपी (पूर्व) जगदीश विश्नोई ने यह राशि महामंदिर पुलिस थाने में दर्ज एक केस से एससीएसटी की धारा हटाने के लिए मांगी थी। एसीबी ने पहले दलाल को पावटा क्षेत्र में परिवादी से विश्नोई के लिए पैसे लेते गिरफ्तार किया। बाद में कमिश्नर अशोक राठौड़ के पास बैठे हुए विश्नाई को भी दबोच लिया।
ब्यूरो के अधीक्षक अजय पाल लाम्बा ने बताया कि परिवादी विनय पंवार ने शिकायत दर्ज कराई थी कि महामंदिर थाने में उसके खिलाफ एक प्रकरण दर्ज है। उसमें से एससीएसटी की धारा हटाने के लिए एसीपी(पूर्व) जगदीश विश्नोई दलाल के माध्यम से 70 हजार रुपए मांग रहे हैं। ब्यूरो के अतिरिक्त अधीक्षक सीपी शर्मा ने इस शिकायत की पुष्टि की। इसके बाद सुबह पंवार को रिश्वत की राशि लेकर पावटा के मानजी का हत्था निवासी दलाल डूंगरदान को देने के लिए भेजा। पंवार ने डूंगरदान को जैसे ही 70 हजार रुपए दिए, मौके पर पहले से तैनात ब्यूरो की टीम ने उसे दबोच लिया। इसके तुरंत बाद उसकी एसीपी विश्नोई से बात करवाई गई। इसमें विश्नोई ने रुपए उनके पास पुलिस कंट्रोल रूम में मंगवाए। वहीं इस बीच ब्यूरो की टीम को आशंका हुर्इ कि कहीं विश्नोई को मामले की भनक पड़ जाएगी तो वह फरार हो जाएगा। इस पर कमिश्नर राठौड़ से बात की गई। राठौड़ ने इसके बाद विश्नोई को अपने पास बुलाकर बिठा लिया। उसे तब तक वहीं बिठाए रखा, जब तक कि ब्यूरो की टीम ने वहां पहुंच कर गिरफ्तार नहीं कर लिया। गिरफ्तार होते ही विश्नोई के होश उड़ गए। वह इस कदर हक्का-बक्का हो गया कि कुछ मिनट तक तो उसके मुंह से कुछ भी बोल नहीं फूटे। जब वह कुछ संभला तो खुद को बेकसूर बताते हुए गलत तरीके से फंसाने का आरोप लगाने लगा।