एमबीएस अस्पताल में महिला ने एक जने की जेब से उड़ाया पर्स

9
326

न्यूज चक्र @ कोटा

एमबीएस अस्पताल में एक्सरे रूम के बाहर खड़े एक व्यक्ति की जेब से पर्स गायब हो गया। पता चला कि पीछे खड़ी एक महिला उसका पर्स निकालने की कोशिश कर रही थी। इस पर उस व्यक्ति ने तेजी से भाग कर टेम्पो में बैठ चुकी उस महिला को दबोच लिया। हंगामा देख वहां पहुंची पुलिस ने महिला को शांतिभंग में गिरफ्तार कर लिया। मगर उससे पर्स बरामद नहीं हुआ था। उससे पूछताछ की जा रही है।
बूंदी निवासी सेवानिवृत्त सरकारी कर्मचारी नंदकिशोर सेन की मां तीजू बाई के पैर में फ्रेक्चर है। इसलिए वे उन्हें दिखाने के लिए एमबीएस अस्पताल लाए थ्ो। वे एक्स-रे रूम के बाहर मरीजों की कतार में खड़े थे। उनके पीछे एक महिला भी खड़ी थी। कुछ देर बाद वह वहां से चली गई। इसके बाद लाइन में खड़े एक अन्य व्यक्ति ने सेन को बताया कि वह महिला उनका पर्स निकालने की कोशिश कर रही थी। इस पर उन्होंने अपनी जेब टटोली तो पर्स गायब मिला। वह तुरंत महिला के पीछे दौड़े। महिला अस्पताल से बाहर निकल टेम्पो में बैठ चुकी थी। सेन ने उस महिला को पकड़ कर टेम्पो से नीचे उतार लिया। उन्होंने महिला से पर्स वापस देने को कहा, लेकिन वह आनाकानी करती रही। इस बीच वहां काफी लोग एकत्र हो गए। नयापुरा पुलिस भी मौके पर पहुंच गई और महिला को थाने ले आई।
तलाशी में महिला के पास पर्स नहीं मिला। पूछताछ में पता चला कि वह महिला सवाईमाधोपुर निवासी माला पत्नी कन्हैया गोरी है। वह यहां रेलवे स्टेशन के पास रहती है तथा गुब्बारे बेचने का काम करती है। उसे पुलिस ने शांतिभंग के आरोप में गिरफ्तार कर पूछताछ की जा रही थी।
उधर, सेन ने बताया कि उस महिला के साथ दो बच्चे भी थे। जैसे ही उन्हांेने महिला को टेम्पो से उतारा तो एक बच्चा भाग गया था। उन्हांेने शक जताया कि पर्स महिला ने उस बच्चे को दे दिया होगा। पर्स में 5०० रुपए, एटीएम कार्ड, ड्राइविग लाइसेंस आदि थ्ो।