अभी शहर में पांच सेटेलाइट अस्पतालों की आवश्यकता: राजावत

3
213

 

इन्द्रा गांधी नगर में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का उद्घाटन
न्यूज चक्र @ कोटा

विधायक भवानी सिंह राजावत ने कहा कि सम्पन्न लोग ही निजी अस्पतालों में इलाज करवा सकते हैं। वहीं मध्यम श्रेणी व गरीबी तबके का व्यक्ति महंगा इलाज नहीं करवा सकता। उसे सरकारी अस्पतालों की नि:शुल्क चिकित्सा सुविधा पर ही निर्भर रहना पड़ता है। अगर उसे यह सुविधा भी नहीं मिलती है तो वह खुद का या परिजनों का इलाज नहीं करवा सकता है। ऐसे में नि:शुल्क सरकारी चिकित्सा सुविधा गरीब के लिए संजीवनी बनकर उसकी जान बचा सकती है।

विधायक राजावत सोमवार को लाड़पुरा विधानसभा क्षेत्र के इन्द्रा गांधी नगर आबादी क्षेत्र में नवीन प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के उद्घाटन समारोह को संबोधित कर रहे थ्ो। उन्होंने अपने उद्बोधन में  कहा कि कोटा शहर के 50 हजार से लेकर 1 लाख तक के आबादी क्षेत्र आजादी के 68 साल बाद भी सरकारी चिकित्सा सुविधा से महरूम हैं। यह आश्चर्यजनक है कि किसी ने भी चिकित्सा सुविधाओं के विस्तार पर ध्यान नहीं दिया। उन्होंने कहा कि 50 हजार के आबादी क्षेत्र में केवल प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र की सुविधा अपर्याप्त है। डीसीएम विज्ञान नगर इलाके में, रंगबाड़ी आरकेपुरम् श्रीनाथपुरम् इलाके में, कुन्हाड़ी सकतपुरा नदी पार इलाके में, बोरखेड़ा बारां रोड इलाके में और रेलवे स्टेशन पटरीपार के इलाके में नए सेटेलाइट अस्पतालों के निर्माण की आवश्यकता है। जिससे लोगों को घर के नजदीक ही सरकारी चिकित्सा सुविधा मुहैया हो सके।  अभी भी 1०-1० किमी दूर से गरीब मरीज ऑटो रिक्शे से जब एमबीएस हॉस्पिटल पहुंचता है तो 5०० से लेकर 1००० रुपए तक किराया भाड़ा लग जाता है।  उसके पास दवाई के पैसे नहीं बचते हैं। कोटा को स्मार्ट सिटी बनाने में चौराहों पर फव्वारे और सौंदर्यीकरण की बजाय पहले चिकित्सा सुविधा के विस्तार को प्राथमिकता देनी होगी। राजावत ने कहा कि इन्द्रा गांधी नगर में अभी इस प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र को किराये के भवन में चलाकर लोगों के लिए चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाई गई है। सरकार ने नए भवन के निर्माण के लिए 75 लाख रुपए स्वीकृत कर दिए हैं। इससे डीसीएम चौराहे पर शीघ्र ही नए भवन के निर्माण की नींव रखी जाएगी। समारोह को नगर निगम की उपमहापौर सुनीता व्यास, भाजपा शहर जिलाध्यक्ष  हेमन्त विजय, शहर जिला मंत्री राकेश मिश्रा, पार्षद शकुन्तला बैरवा, पार्षद कृष्ण मुरारी सामरिया, पार्षद मधुकंवर हाड़ा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. नरेन्द्र नागर व चिकित्सा प्रभारी डॉ. नवीन सक्सेना ने भी सम्बोधित किया।