हथकड़ी लगे हार्डकोर अपराधी को पुलिस से छुड़ा ले भागे उसके साथी

3
942

ढाई माह के अंतराल में ही राज्य पुलिस को मिली दूसरी चुनौती

न्यूज चक्र @ जोधपुर

राज्य की पुलिस कुख्यात गैंगस्टर आनंदपाल की फरारी का मामला अभी सुलझा नहीं पाई थी कि उसे एक और चुनौती मिल गई है। रोडवेज बस स्टेंड के समीप से शनिवार दोपहर बाद एक हार्डकोर अपराधी को दो कारों में सवार होकर आए उसके कुछ साथी पुलिस की कस्टडी से छुड़ा ले गए। इससे पुलिस महकमे में हड़कम्प मच गया। पुलिस अधिकारी दिनभर इस मुद्दे पर बोलने से बचते रहे। पूरे जिले में नाकाबंदी कर सघन तलाशी अभियान जारी था।
उल्लेखनीय है कि करीब ढाई माह पूर्व नागौर जिले में कुख्यात गैंगस्टर आनंदपाल को भी उसके साथी पुलिस की कस्टडी से छुड़ा ले भागे थ्ो। यह मसला अभी ठंडा भी नहीं पड़ा था कि जोधपुर में भी दिनदहाड़े हुई इस वारदात ने पुलिस की कार्य प्रणाली पर ढेरों सवाल खड़े कर दिए हैं। दोपहर बाद करीब साढ़े तीन बजे बीकानेर के चार पुलिसकर्मी अपराधी मांगीलाल विश्नोई को लेकर जोधपुर पहुंचे थ्ो। वे बस स्टेंड से पैदल ही उसे हथकड़ी लगा कर कोर्ट लेकर जा रहे थे। इस दौरान बस स्टेंड के बाहर दो कार पुलिस के निकट आकर रूकीं। पुलिसकर्मी कुछ समझ पाते इससे पहले ही कारों में से सात-आठ युवक उतरे और उनके साथ धक्कामुक्की कर मांगीलाल को अपनी कार में बैठा कर फरार हो गए। पुलिस अभी तक यह नहीं बता पा रही है कि मांगीलाल को वह जोधपुर से बीकानेर ले जा रही थी या वहां से यहां लेकर आ रही थी। हार्डकोर अपराधी के फरार होते ही पुलिस ने नियंत्रण कक्ष को सूचना दी। आला अधिकारियों तक सूचना पहुंचते ही सभी के हाथ-पांव फूल गए। आनन-फानन में सबसे पहले पूरे शहर में और बाद में जिलेभर में नाकाबंदी करवा दी गई।

करीब बीस गंभीर मामले दर्ज हैं मांगीलाल पर

जोधपुर जिले के लोहावट के निकट नोखड़ा गांव का निवासी मांगीलाल के खिलाफ विभिन्न थानों में हत्या, लूट, डकैती, अपहरण सहित करीब बीस मामले दर्ज हैं। उसने जोधपुर व बीकानेर में इन वारदातों को अंजाम दिया था। वह लम्बे अरसे से जोधपुर जेल में बंद था।

वहीं आनंदपाल की जैसलमेर में तलाश

पुलिस को फरार आनंदपाल सिंह के जैसलमेर जिले में कहीं छुपा होने की सूचना मिली थी। इसके बाद से शनिवार को दूसरे दिन भी पुलिस जिले को खंगालने में लगी रही। इसमें जैसलमेर के साथ जोधपुर के करीब तीन सौ पुलिसकर्मी जुटे हुए हैं। विश्ोषतौर पर ग्रामीण क्ष्ोत्रों में सघन तलाशी की जा रही है। माना जा रहा है कि यहां आनंदपाल के कई गुर्गे रहते हैं। पहले भी कई बार आनंदपाल इनके पास आता रहा है। उसके बाद से जैसलमेर व जोधपुर पुलिस दो दिन से वहां के ग्रामीण क्षेत्र में सघन तलाशी अभियान चला रही है। इस कार्य में करीब तीन सौ पुलिसकर्मियों को लगाया गया है। यह अलग बात है कि पुलिस के आलाधिकारी इस सरगर्मी को आनंदपाल की तलाशी नहीं बता रहे हैं।