विधायक राजावत सहित आठ जनों के खिलाफ चालान पेश

3
281

न्यूज चक्र @ कोटा

हाईकोर्ट की सर्किट बैंच की मांग को लेकर छह साल पूर्व आंदोलन के दौरान हाईवे जाम करने के मामले में दोषी पाए गए विधायक भवानीसिंह राजावत सहित आठ लोगों के खिलाफ उद्योग नगर पुलिस ने अदालत में चालान पेश किया। अदालत ने इन सभी आरोपियों को 5 जनवरी को समन से तलब किया है।
अभिभाषक परिषद के तत्वावधान में हाईकोर्ट की सर्किट बैंच की मांग को लेकर वर्ष 2००9 में करीब 4 माह तक आंदोलन चला था। इस दौरान पूरे शहर में जनप्रतिनिधियों के नेतृत्व में हाईवे जाम किए गए थ्ो।
इसी क्रम में विधायक राजावत के नेतृत्व में भी 12 अक्टूबर 2००9 को उद्योग नगर थाना क्षेत्र स्थित बोरखेड़ा तिराहे पर जाम लगाया गया था। इससे राष्ट्रीय राजमार्ग 76 पर यातायात बाधित हो गया था। इस मामले में तत्कालीन थानाधिकारी विजयशंकर शर्मा ने मामला दर्ज किया था।
शनिवार को पुलिस ने विधायक राजावत, पूर्व भाजपा शहर अध्यक्ष मनमोहन जोशी, सत्यभान सिह, राजकुमार माहेश्वरी, लोकेन्द्र सिह, एडवोकेट रमेश कुशवाह, राजेश अड़सेला व पृथ्वीराज सिह शक्तावत के खिलाफ अदालत में चालान पेश किया गया। इस मौके पर इनमें से कोई भी आरोपी अदालत में उपस्थित नहीं था। इस पर अदालत ने सभी के खिलाफ प्रसंज्ञान लेकर उन्हें 5 जनवरी को समन से तलब किया है। उल्लेखनीय है कि इसी तरह के मामलों में इससे पहले विज्ञान नगर व कुन्हाड़ी पुलिस भी चालान पेश कर चुकी है।

थर्मल घूस कांड के पांचों आरोपियों की हिरासत अवधि बढ़ी

कोटा.  थर्मल घूस कांड मामले में गिरफ्तार पांचों आरोपियों की जेल अवधि अदालत ने शनिवार को 5 दिसम्बर तक के लिए बढ़ा दी है।
रंगबाड़ी निवासी ठेकेदार नाथूलाल नागर की शिकायत पर एसीबी की टीम ने 3० अक्टूबर को थर्मल के उप मुख्य अभियंता एलके नंदवाना को 5० हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया था।
साथ ही रिश्वत मांगने व षड़यंत्र म्ों शामिल होने पर अधीक्षण अभियंता आरके छावल, सहायक अभियंता चंद्रशेखर शर्मा व राजीव लोहमी और सहायक लेखाधिकारी कैलाश शर्मा को गिरफ्तार किया था। अदालत ने सभी को जेल भेज दिया था। शनिवार को पांचों आरोपितों को जेल से अदालत में पेश किया गया। यहां सभी की जेल अवधि 5 दिसम्बर तक बढ़ा दी गई।

एसपी घूसकांड मामले में नहीं हो सकी सुनवाई

इधर एसपी घूसकांड मामले में शनिवार को वकील और आरोपियों के उपस्थित नहीं होने से सुनवाई नहीं हो सकी। अब इस मामले में सोमवार को सुनवाई होगी।
आईपीएस सत्यवीर सिह की ओर से पेश प्रार्थना पत्रों पर शनिवार को बहस होनी थी। लेकिन सत्यवीर सिह व फरहीन के उपस्थित नहीं होने और सिह के अधिवक्ता के शहर से बाहर होने से सुनवाई नहीं हो सकी। वहीं निसार अहमद पेशी पर उपस्थित हुआ।